Online se Dil tak

बुजुर्ग ने आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए साइकिल से तय किया लम्बा सफर , दूरी जानकर ताज्जुब करेंगे आप

केंद्र सरकार द्वारा किसानों के हित के नाम पर पारित हुए कृषि कानून बिल ने केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकार तक सबकी नींद उड़ा दी है। इसका कारण यह है कि इस बिल के विरोध प्रदर्शन के लिए सैकड़ों किसानों ने पिछले महीने 27 नवंबर से सरकार के खिलाफ एक आंदोलन शुरू किया हुआ है

जो लगातार अभी तक जांच जारी है। इस आंदोलन को जहां विपक्षी नेताओं का वहीं अन्य राज्यों के सैकड़ों किसानों का भी भरपूर समर्थन मिल रहा है। अब इसी क्रम में एक व्यक्ति जो बिहार के सिवान से है। जिसका नाम सत्य देवी मांझी है। उक्त व्यक्ति ने किसानों का साथ देने के लिए साइकिल पर 1,100 KM का सफर तय किया।

बुजुर्ग ने आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए साइकिल से तय किया लम्बा सफर , दूरी जानकर ताज्जुब करेंगे आप
बुजुर्ग ने आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए साइकिल से तय किया लम्बा सफर , दूरी जानकर ताज्जुब करेंगे आप

सत्य देवी मान जी का कहना है कि , “मैं चाहता हूं कि मोदी सरकार जल्द से जल्द तीनों कृषि क़ानूनों को रद्द करे.। उन्होंने यह भी बताया कि वह आंदोलन खत्म होने तक किसानों के साथ ही रहेंगे और उनका साथ कतई नहीं छोड़गे।

सत्य देव मांझी से पहले पंजाब के दो युवक किसान आंदोलन में भाग लेने के लिए 300 किलोमीटर तक साइकिल चलाकर प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे थे। इन युवकों की पहचान जोवन प्रीत सिंह और गुरिंदर जीत के रूप में की गई थी।

बुजुर्ग ने आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए साइकिल से तय किया लम्बा सफर , दूरी जानकर ताज्जुब करेंगे आप
बुजुर्ग ने आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए साइकिल से तय किया लम्बा सफर , दूरी जानकर ताज्जुब करेंगे आप

दोनों युवक अपने खाने-पीने का इंतजाम करते हुए साइकिल पर किसानों का समर्थन देने के लिए घर से निकल पड़े थे। वही किसानों को मनाने के लिए केंद्र सरकार के नेता किसी भी प्रकार की कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं, लेकिन बदले में उन्हें निराशा ही हाथ लग रही है।

इसका कारण यह है कि किसान अब पीछे हटने को तैयार नहीं है, और वह अपनी मांग मनवाने के लिए मन को मजबूत कर चुके है। वहीं केंद्र सरकार ने साफ कर दिया है कि कानून वापस नहीं होगा। इस मामले पर अब सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है।

Read More

Recent