HomeLife StyleHealthकुत्तों से हो जाए सावधान, अब बी.के में नही लगवा पाएंगे एन्टी...

कुत्तों से हो जाए सावधान, अब बी.के में नही लगवा पाएंगे एन्टी रैबीज इंजेक्शन

Published on

फरीदाबाद: अगर किसी व्यक्ति के घर व ऑफिस के पास कुत्तों का आतंक बना हुआ है तो हो जाए सावधान। क्योंकि अगर किसी को कुत्ते ने काट लिया तो उनको 100 रुपए की बजाए 350 रुपए का लगवाना पड़ेगा इंजेक्शन। जिले के एक मात्र सरकारी अस्पताल में एंटी रैबीज के इंजेक्शन खत्म हो चुके हैं।

बीके अस्पताल में एंटी रैबीज इंजेक्शन नहीं होने की वजह से लोगों को बाहर से इंजेक्शन खरीद कर लाने पड़ रहे है। अधिकारियो का कहना है कि वियर हाउस में भी एंटी रैबीज के इंजेक्शन उपलब्ध नहीं है।

कुत्तों से हो जाए सावधान, अब बी.के में नही लगवा पाएंगे एन्टी रैबीज इंजेक्शन
प्रतीकात्मक तस्वीर


बीके अस्पताल में करीब 12 दिनों से एंटी रैबीज के इंजेक्शन नहीं है। जिसके वज़ह से लोगो को बाहर से इंजेक्शन खरीद कर लाने पड़ रहे है। एन आई टी 2 की रहने वाली मिनाक्षी ने बताया की उनके बेटा मंगलवार को घर के बाहर खेल रहा था।

तभी वह घूम रहा कुत्ता ने उसको काट लिया। जिसकी वज़ह से वह बुधवार को बी के अस्पताल में एंटी रैबीज का इंजेक्शन लगवाने के लिया आई। लेकिन बी के अस्पताल में इंजेक्शन नहीं होने की वज़ह से वह प्राइवेट मेडिकल स्टोर से 350 रुपये का खरीद कर लाई है।

कुत्तों से हो जाए सावधान, अब बी.के में नही लगवा पाएंगे एन्टी रैबीज इंजेक्शन
बी के अस्पताल कमरा नो. 41

वही सैनिक कॉलोनी के रहने वाले राकेश ने बताया कि वहां बच्चे को कुत्ते से बचा रहे थे तभी दूसरे कुत्ते ने उनको काट लिया। बुधवार को वह बी के अस्पताल में इंजेक्शन लगवाने के लिया आए।

लेकिन एंटी रैबीज के इंजेक्शन खत्म हो गए है जिसके बाद वह बहार से इंजेक्शन लेकर आए। जानकारी के अनुसार 30 सितम्बर को 2000 इंजेक्शन आए थे। जोकि 12 दिसंबर को ख़तम हो गए। 12 दिसंबर से लेकर अभी तक इंजेक्शन ने आए है ।

कुत्तों से हो जाए सावधान, अब बी.के में नही लगवा पाएंगे एन्टी रैबीज इंजेक्शन
बी के अस्पताल कमरे के बाहर नोटिस

एंटी रैबीज का इंजेक्शन एक मरीज को पांच टीके लगाए जाते हैं। अब अस्पताल में इंजेक्शन नहीं होने की वजह से लोगों को बाहर से इंजेक्शन लगवाने को मजबूर है। मेडिकल स्टोर से एंटी रैबीज का एक इंजेक्शन 350 रुपये मिलता है और एक मरीज को पांच टीके लगाए जाते हैं।

मरीज को पूरा टीकाकरण कराने में 1750 रुपये खर्च करने पड़ते हैं, जबकि बीके अस्पातल में लोगों को पूरा टीकाकरण कराने में मात्र 500 रुपये की खर्च करने पड़ते हैं। इसके अलावा बीपीएल कार्ड धारकों व आर्थिक रूप से पिछड़े मरीजों को निशुल्क लगाए जाते हैं। कार्यकारी पीएमओ डॉक्टर विनय गुप्ता का कहना है कि डिमांड भेजी हुई है जल्दी ही आने की उम्मीद है।

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...