Online se Dil tak

नर्स बेच रही गर्भपात की दवाइयां, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पकड़ा रंगेहाथ


फरीदाबाद : गर्भपात करना वैसे गुना है , लेकिन स्वास्थ्य विभाग में काम करने वाली नर्स ही अगर ऐसा काम करें तो अस्पताल में भी कोई गर्भवती सुरक्षित नहीं है. सीएमओ को शिकायत मिलने के बाद एक टीम का गठन किया गया. जिसके बाद नर्स को रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया.

सोमवार को सेक्टर-3 स्थित ऍफ़ आर यू में कार्यरत नर्स को गर्भपात करने वाली गाेलियां की किट बेचने के आरोप में रंगे हाथ पकड़ा गया. नर्स एक महिला को यह दवाएं बेच रही थी। सीएमओ रणवीर सिंह पूनिया को काफी समय से शिकायत मिल रही थी कि सेक्टर-3 ऍफ़ आर यू में सुनीता नामक नर्स महिलाओं को गर्भपात की दवाएं बेच रही हैं।

नर्स बेच रही गर्भपात की दवाइयां, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पकड़ा रंगेहाथ
नर्स बेच रही गर्भपात की दवाइयां, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पकड़ा रंगेहाथ

शिकायतों के बाद सीएमओ ने सोमवार को टीम का गठन किया। टीम में उपमुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. हरीश आर्य, खेड़ीकलां के एसएमओ हरजिंद्र सिंह, बल्लभगढ़ के एसएमओ डा. मान सिंह व महिला डॉक्टर संगीता को शामिल किया।

टीम ने एक महिला को फर्जी तौर पर सेक्टर-3 केंद्र में भेजा .उस महिला ने नर्स से गर्भपात की दवा के बारे में पूरी बात की . जिसके बाद महिला ने टीम को इशारा कर दिया। जैसे ही नर्स मार्केट में आकर महिला को एमटीपी किट देने लगी, तभी टीम ने उसे रंगे हाथ पकड़ लिया। टीम ने इसके बाद पुलिस को सूचना दे दी।

नर्स बेच रही गर्भपात की दवाइयां, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पकड़ा रंगेहाथ
नर्स बेच रही गर्भपात की दवाइयां, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पकड़ा रंगेहाथ

एसएमओ डॉ़ मानसिंह ने बताया कि ऍफ़ आर यू में कार्यरत नर्स किसी बाहर के सप्लायर से गर्भपात की दवा मंगाकर बेचती है। सोमवार को टीम ने आरोपित नर्स को रंगे हाथ पकड़ा है। जिसके खिलाफ पुलिस को शिकायत देकर मामला दर्ज कराया जाएगा। नर्स को पुलिस के हवाले किया जाएगा।

पहले भी मारा है छापा


स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार कई मेडिकल स्टोर पर छापेमारी की जा चुकी है। वह मेडिकल स्टोर पर गर्भपात की दवाइयां रखते और बेचते हैं। जिनके खिलाफ स्वास्थ्य विभाग की टीम और ड्रग कंट्रोलर की टीम कार्यवाही करती है।

24 दिसंबर को डिप्टी सिविल सर्जन डॉक्टर हरीश आर्य ने बताया की फरीदाबाद के खेड़ी पुल इलाके में बालाजी मेडिकल स्टोर पर छापा मारा . उन्होंने एक व्यक्ति को ग्राहक बनाकर भेजा। जिसके बाद टीम ने देखा कि गर्भपात की दवाइ जिसकी कीमत 400 की है वह 700 रुपए में बेचीं जा रहे है। उसके बाद टीम ने मेडिकल स्टोर वाले को रंगेहाथों पकड़। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की तरफ से मेडिकल स्टोर के खिलाफ और स्टोर मालिक के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

इस प्रकारण में तीन आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज़ किया गया है। जिनका नाम भारत कॉलोनी निवासी गौरव व शिव कुमार और राजीव निवासी योगेश है। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने मौके से मेडिकल स्टोर के संचालक को गिरफ्तार कर लिया है व अन्य की तलाश जारी है। विभाग कि ओर से स्टोर को सील कर दिया है।


इसके आलावा 21 दिसंबर को जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सेक्टर-3 स्थित मेडिकल स्टाेर पर छापा मारकर गर्भपात कराने वाली एमटीपी किट बरामद की है। जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी(सीएमओ) रणवीर सिंह पूनिया को सेक्टर-3 मेडिकल स्टोर पर एमटीपी किट बेचने के बारे में शिकायत मिल रही थी।

इन शिकायतों के बाद सीएमओ ने टीम का गठन किया। टीम में उपमुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. पीसी आर्य, खेड़ीकलां के एसएमओ हरजिंद्र सिंह, बल्लभगढ़ के एसएमओ डा. मान सिंह, जिला औषधि नियंत्रक संदीप गहलान को शामिल किया। टीम ने सेक्टर-3 में जाकर शिवाय मेडिकल स्टोर पर छापा मारा।

यहां पर धीरज नामक कर्मचारी को ग्राहक बनाकर भेजा। मेडिकल स्टोर पर मौजूद दीपक नामक युवक ने 15 सौ रुपये लेकर एमटीपी किट दे दी। तभी टीम ने जाकर उस युवक को दबोच लिया। उससे किट खरीदने के लिए दिए रुपये भी बरामद हो गए। पुलिस ने आरोपित दीपक नामक युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे अरेस्ट कर लिया।

Read More

Recent