Homeरेल गाड़ी ही नहीं अब बसें भी दौड़ेगी इलेक्ट्रिक पावर से, यहां...

रेल गाड़ी ही नहीं अब बसें भी दौड़ेगी इलेक्ट्रिक पावर से, यहां बनने जा रहा है देश का पहला इलेक्ट्रिक हाईवे

Array

Published on

जल्द ही देश को पहला इलेक्ट्रिक हाईवे मिल सकता है। इससे देशवासियों को काफी फायदा भी पहुंचेगा। दिल्ली से मुंबई के बीच एक्सप्रेसवे का निर्माण तेज़ी से हो रहा है। नए दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से राष्ट्रीय राजधानी और आर्थिक राजधानी के बीच का सफर 24 घंटे की जगह मात्र 12 घंटे में पूरा होने की उम्मीद है।वहीं, अब केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने दिल्ली से जयपुर तक इलेक्ट्रिक हाईवे के निर्माण की जानकारी दी है।

सरकार दिल्ली से जयपुर के बीच इलेक्ट्रिक हाईवे बनाने की तैयारी कर रही है। हालांकि, यह योजना कोई नई नहीं है। मंत्रालय इस योजना के ऊपर पिछले कुछ वर्षों से काम कर रहा है।

रेल गाड़ी ही नहीं अब बसें भी दौड़ेगी इलेक्ट्रिक पावर से, यहां बनने जा रहा है देश का पहला इलेक्ट्रिक हाईवे

इस हाईवे पर सभी इलेक्ट्रिक वाहन ही चलेंगे। इससे पैसा भी बचेगा और प्रदूषण भी कम होगा। केंद्रीय मंत्री ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के निर्माण को लेकर कई जरूरी जानकारियां साझा की। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि मंत्रालय दिल्ली से जयपुर तक इलेक्ट्रिक हाईवे बनाने की योजना बना रहा है। बता दें, यह अभी भी एक प्रस्तावित परियोजना है और मंत्रालय इसके लिए एक विदेशी कंपनी के साथ बातचीत कर रहा है।

रेल गाड़ी ही नहीं अब बसें भी दौड़ेगी इलेक्ट्रिक पावर से, यहां बनने जा रहा है देश का पहला इलेक्ट्रिक हाईवे

इस घोषणा को देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने की राह में बड़ा कदम माना जा रहा है। जैसा कि नाम से पता चलता है दिल्ली से जयपुर के बीच योजनाबद्ध यह इलेक्ट्रिक हाईवे इलेक्ट्रिक रेलवे इंजन की तरह बसों और ट्रकों को भी बिजली से चलाएगा। यदि आप अभी भी नहीं समझे हैं, तो बता दें कि जिस तरह रेलवे ट्रैक के ऊपर बिजली की तारें लगी होती हैं और रेल के इंजन के ऊपर लगे एंटीना इन तारों से जुड़ कर इंजन को पावर प्रदान करते हैं।

रेल गाड़ी ही नहीं अब बसें भी दौड़ेगी इलेक्ट्रिक पावर से, यहां बनने जा रहा है देश का पहला इलेक्ट्रिक हाईवे

कुछ इसी प्रकार यह हाईवे काम करेगा। ट्रेन के ऊपर एक इलेक्ट्रिक वायर देखा होगा। ट्रेन के इंजन से ये वायर एक आर्म के जरिए कनेक्ट होता है, जिससे पूरी ट्रेन को इलेक्ट्रिसिटी मिलती है। इसी तरह हाइवे पर भी इलेक्ट्रिक वायर लगाए जाएंगे। हाइवे पर चलने वाले वाहनों को इन वायर्स से इलेक्ट्रिसिटी मिलेगी। इसे ही ई-हाइवे, यानी इलेक्ट्रिक हाइवे कहा जाता है। इस हाईवे पर इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए थोड़ी-थोड़ी दूरी पर चार्जिंग पॉइंट भी होंगे।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...