Homeबस से ट्रैवल और नौकरी करना, आम इंसान की तरह जीतीं है...

बस से ट्रैवल और नौकरी करना, आम इंसान की तरह जीतीं है बड़ौदा की महारानी, रोचक है इनकी कहानी

Published on

बड़ौदा की महारानी राधिकाराजे गायकवाड़ इन दिनों चर्चा में हैं। उनकी कई तस्वीरें वायरल हो रही हैं। भारत में ऐसे कई शाही परिवार है जो आज भी शानो-शौकत की जिंदगी जीते हैं और हमेशा सुर्खियों में रहते हैं। इन राजा-महाराजाओं के पास संपत्ति की कोई कमी नहीं होती है और यह अपनी जिंदगी बड़ी ही शान से जीते हैं। लेकिन बड़ौदा की महारानी राधिकाराजे गायकवाड की कहानी बाकी शाही परिवार से बेहद अलग है।

उन्होंने कहा है कि वो एक आम इंसान की तरह जीवन जीती हैं। महारानी राधिकाराजे गायकवाड़ दिखने में काफी खूबसूरत और आकर्षक है लेकिन वह ठाठ-बाट की जिंदगी नहीं बल्कि एक आम इंसान की तरह ही जिंदगी जीती है। राजसी घराने होने का अर्थ नहीं होता है कि वो किसी राजा-महाराजा की तरह जीते हैं।

बस से ट्रैवल और नौकरी करना, आम इंसान की तरह जीतीं है बड़ौदा की महारानी, रोचक है इनकी कहानी

लोग रानी की तारीफ कर रहे हैं, कई लोगों ने उनके लिए लिखा है कि वो जितनी तन से सुंदर हैं, उतनी ही सुंदर उनकी बातें और सोच भी है। राधिका राजे गायकवाड़ का जन्म वांकानेर के शाही परिवार में हुआ। राधिका के पिता यानिकि वांकानेर के महाराज कुमार डॉ रंजीत सिंह शाही परिवार से ताल्लुक रखने वाले एकमात्र ऐसे इंसान थे जिन्होंने शाही परिवार का सुख छोड़कर आईएएस अधिकारी बनने का निर्णय लिया था।

बस से ट्रैवल और नौकरी करना, आम इंसान की तरह जीतीं है बड़ौदा की महारानी, रोचक है इनकी कहानी

राधिका का कहना है कि वह अपने शाही परिवार की चमक धमक के बजाय एक वास्तविक जीना पसंद करती है। बता दें, शाही परिवार से ताल्लुक रखने वाली महारानी राधिका ने 2002 में बड़ोदरा के महाराजा समरजीत सिंह से शादी की थी। राधिकाराजे का कहना है कि, “साल 1984 में जो भोपाल में गैस त्रासदी हुई थी तो इस दौरान मेरे पिता वहां कमिश्नर के रूप में तैनात थे। इस दौरान मेरी उम्र मात्र 6 साल की थी।

बस से ट्रैवल और नौकरी करना, आम इंसान की तरह जीतीं है बड़ौदा की महारानी, रोचक है इनकी कहानी

भोपाल गैस त्रासदी को लेकर उन्होंने कहा कि मेरे पिता अपनी ड्यूटी करने के साथ लोगों की मदद भी कर रहे थे। उस रात मैंने पहली चीज ये सीखी कि आप बिना उंगली उठाए चीजों के ठीक होने की उम्मीद नहीं कर सकते। यह एक ऐसी चीज थी जो मैंने अपने पिता से बड़े होने के दौरान सीखे।

Latest articles

नशा मुक्त भारत पखवाडा के अंतर्गत नशे पर प्रहार करते हुए 520 ग्राम गांजा सहित आरोपी को अपराध शाखा DLF की टीम ने किया...

पुलिस महानिदेशक हरियाणा के निर्देशानुसार पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के मार्ग दर्शन में...

“नशा मुक्त भारत पखवाडा” के अन्तर्गत फरीदाबाद पुलिस ने किया लोगो को जागरूक, दिलाई नशे से दूर रहने की शपथ

पुलिस महानिदेशक हरियाणा के निर्देशानुसार पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के मार्ग दर्शन...

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुमित गौड़ ने कांग्रेसी नेताओं ने ठेकेदारों के सिर फोड़ा फरीदाबाद लोकसभा चुनाव की हार का ठीकरा

लोकसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी द्वारा देश भर में किए गए बेहतर प्रदर्शन पर...

More like this

नशा मुक्त भारत पखवाडा के अंतर्गत नशे पर प्रहार करते हुए 520 ग्राम गांजा सहित आरोपी को अपराध शाखा DLF की टीम ने किया...

पुलिस महानिदेशक हरियाणा के निर्देशानुसार पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के मार्ग दर्शन में...

“नशा मुक्त भारत पखवाडा” के अन्तर्गत फरीदाबाद पुलिस ने किया लोगो को जागरूक, दिलाई नशे से दूर रहने की शपथ

पुलिस महानिदेशक हरियाणा के निर्देशानुसार पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के मार्ग दर्शन...