HomeGovernmentसरकारी विभागों, बोर्ड-निगमों में आउटसोर्सिंग पर नई नियुक्तियां पर बढ़ी हरियाणा सरकार...

सरकारी विभागों, बोर्ड-निगमों में आउटसोर्सिंग पर नई नियुक्तियां पर बढ़ी हरियाणा सरकार की सख्ती

Published on

आउटसोर्सिंग नीति पार्ट-1 और 2 के तहत कर्मचारियों की नियुक्ति पर रोक लगाते हुए हरियाणा सरकार ने स्पष्ट कर दिया हैं कि अब हरियाणा के सरकारी विभागों, बोर्ड-निगमों में आउटसोर्सिंग पर नई नियुक्तियां नहीं होंगी।

विभाग ने उक्त सभी प्रशासनिक सचिवों, विभागाध्यक्षों, मंडलायुक्तों, बोर्ड-निगमों के मुख्य प्रशासकों, प्रबंध निदेशकों, पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार, सभी डीसी और एसडीएम को इस संबंध में पत्र भेज दिया है। सभी अधिकारियों को अपने दायरे के भीतर कोई नव कच्चा कर्मचारी न रखने का निर्देश दिया है।

सरकारी विभागों, बोर्ड-निगमों में आउटसोर्सिंग पर नई नियुक्तियां पर बढ़ी हरियाणा सरकार की सख्ती

निर्देश का कड़ाई से पालन कराने की भी हिदायत दे दी है। वहीं बात करें तो इससे भी पहले सरकार ने 2015 और 2019 में अलग-अलग फैसले लेते हुए जनहित से जुडे़ खाली पदों पर बेहद जरूरी मामलों में आउटसोर्सिंग नीति पार्ट-2 के तहत नियुक्तियों की छूट दी थी। सी-डी श्रेणी के खाली स्वीकृत पदों के विरुद्घ विभागों के मुखिया कच्चे कर्मचार नियुक्त कर सकते थे। इसके लिए मुख्य सचिव और वित्त विभाग की मंजूरी लेना अनिवार्य किया गया था। सरकार ने अब इन आदेश को वापस ले लिया है।

सरकारी विभागों, बोर्ड-निगमों में आउटसोर्सिंग पर नई नियुक्तियां पर बढ़ी हरियाणा सरकार की सख्ती

सभी प्रशासनिक सचिवों व विभागाध्यक्षों को निर्देश दिए गए हैं कि वे अपने-अपने विभाग के नोडल अधिकारियों को ताजा रिकॉर्ड के साथ बैठक में भेजें। इसमें यह देखा जाएगा कि सरकार के आदेश के बाद कितने विभागों ने अपने कर्मचारियों का शत-प्रतिशत डाटा एचआरएमएस पर अपलोड कर दिया है। बोर्ड-निगमों के नोडल अधिकारियों की बैठक जल्दी तय की जाएगी।

सरकारी विभागों, बोर्ड-निगमों में आउटसोर्सिंग पर नई नियुक्तियां पर बढ़ी हरियाणा सरकार की सख्ती

ऐसे तो हाल ही में सरकार ने हरियाणा कौशल रोजगार निगम गठित किया गया है। इसके तहत ही विभागों, बोर्ड-निगमों में आउटसोर्सिंग आधार पर भर्तियां होनी हैं। ठेकेदारी प्रथा खत्म करने और नियुक्तियों में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए यह निर्णय लिया है। निगम ने अब तक अनुबंध आधार पर हुई नियुक्तियों का ब्योरा सभी विभागों, बोर्ड-निगमों से डेढ़ सप्ताह पहले ही मांगा है।

प्रदेश सरकार एचआरएमएस यानि ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट सिस्टम पर अपलोड कर्मचारियों के डाटा की बुधवार को समीक्षा करेगी। मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सभी विभागों के नोडल अधिकारियों की बैठक लेंगे। पहले यह बैठक हरियाणा निवास में होनी थी, इसे अब सेक्टर-17 स्थित नव सचिवालय के कांफ्रेंस हॉल में तीन बजे रखा है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...