Homeबेटी की दर्दनाक दास्तान: लॉकडाउन में पिता रोज करता था दुष्कर्म, गर्भपात...

बेटी की दर्दनाक दास्तान: लॉकडाउन में पिता रोज करता था दुष्कर्म, गर्भपात के लिए देता था दवाई

Published on

एक कलयुगी पिता लॉकडाउन के दौरान अपनी बेटी के साथ दुष्कर्म करता रहा, और उसे कुछ पछतावा भी न होता। पिता अपनी नाबालिग बेटी के साथ अकेले रहता था। शराब के नशे में रोज उसकी अपनी बेटी पर ही नियत खराब हो जाती थी। दो महीने तक चले इस लॉकडाउन में शायद ही कोई ऐसा दिन होगा जब उसने अपनी बेटी से दुष्कर्म ना किया हो।

शख्स अपनी ही नाबालिग बेटी से रेप करता था। वह कई दिनों से बेटी से सम्बन्ध बनाता था। बलात्कार करने के बाद वो बेटी को गर्भपात की गोलियां भी खिला देता था।

बेटी की दर्दनाक दास्तान: लॉकडाउन में पिता रोज करता था दुष्कर्म, गर्भपात के लिए देता था दवाई

देश भर में लॉकडाउन चल रहा था लेकिन उस इंसान के दिमाग में शैतान पल रहा था। रिश्तों को तार-तार करने वाली यह घटना सुन हर किसी का कलेजा बाहर आ गया। लोगों को यकीन नहीं हुआ कि एक बाप अपनी सगी बेटी संग ऐसा कुछ कर सकता है। यह घिनोना अपराध उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में हुआ है। यहां एक नाबालिग बेटी ने अपने पिता पर आरोप लागाया है कि उसने दो महीने के लॉकडाउन में हर रोज उसका रेप किया।

बेटी की दर्दनाक दास्तान: लॉकडाउन में पिता रोज करता था दुष्कर्म, गर्भपात के लिए देता था दवाई

पूरी प्लानिंग के साथ वो यह सब कर रहा था इसलिए गर्भपात की गोलियां भी देता था। दुष्ट पिता की रोज-रोज की ज्यादतियों से बेटी तंग आ गई। जैसे ही उसके सब्र का बाँध टुटा वो सीधा नजदीकी पुलिस स्टेशन गई और पिता के खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी। बेटी के द्वारा लगाए गए गंभीर आरोपों के बाद पुलिस ने तुरंत एक्शन लिया और जालिम पिता को गिरफ्तार कर लिया।

बेटी की दर्दनाक दास्तान: लॉकडाउन में पिता रोज करता था दुष्कर्म, गर्भपात के लिए देता था दवाई

इस कलयुगी पापी बाप को शराब पिने की लत है। इसी कारण उसकी पत्नी घर छोड़ चली गई। आरोपी की 3 बेटियां और एक बेटा है। पत्नी ने जब घर छोड़ा तो अपने साथ दो बेटियों और एक बेटे को ले गई थी। एक अन्य बेटी (पीड़ित लड़की) पिता के साथ ही रहती थी।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...