Home2 साल तक गर्भ में रखने के बाद हथिनी देती है बच्चे...

2 साल तक गर्भ में रखने के बाद हथिनी देती है बच्चे को जन्म, जानें क्या है इसकी वजह?

Published on

जब एक मां चाहे इंसान हो या जानवर अपने गर्भ में पल रहे बच्चे को जन्म देकर नई जिदंगी देती है वह दुनिया का सबसे खूबसूरत पल माना जाता है। मां के गर्भ में नौ महीने का समय बिताने के बाद बच्चे का जन्म होता है। इंसानों में बच्चा नौ महीने तक मां के गर्भ में ही पलता-बढ़ता है लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जिनका गर्भकाल सालों का होता है।

हथिनियों के इतने लंबे गर्भावस्था के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई है। ये समय महिला या मादा को दर्द तो देता है लेकिन संतान की खुशी उसे भी कम कर देती है।

2 साल तक गर्भ में रखने के बाद हथिनी देती है बच्चे को जन्म, जानें क्या है इसकी वजह?

यूं तो हाथी की बुद्घिमानी के बारे में बताने की कोई जरूरत नहीं लेकिन आपको हथिनी की तकलीफ के बारे में सुनकर जरूरी हैरानी होगी। दरअसल एक हथिनी अपने बच्चे को 22 से 24 महीने यानी करीब दो साल तक गर्भ में पालती है। हथिनी के गर्भ में उसका बच्चा लगभग 2 वर्षों तक रहता है। देखा जाए तो हथिनी इकलौती ऐसी जानवर है, जिसके मां बनने में इतना लंबा वक्त लग जाता है।

2 साल तक गर्भ में रखने के बाद हथिनी देती है बच्चे को जन्म, जानें क्या है इसकी वजह?

हाथी बहुत ही सामाजिक स्तनपाई जीव होते हैं। ये बड़े ही बुद्धिमान भी होते हैं। इनके गर्भधारण का समय 680 दिनों का होता है, जो कि लगभग 2 वर्षों के बराबर है। गजराज कहा जाने वाला हाथी जंगल में सबसे ताकतवर जानवरों में से एक माना जाता है। हाथी स्नान करने में बड़ा नियमित होता है और अपनी बच्चे को नियमित रूप से स्नान कराता है।

2 साल तक गर्भ में रखने के बाद हथिनी देती है बच्चे को जन्म, जानें क्या है इसकी वजह?

गर्भावस्था जो हथिनियों का होता है, उसके पीछे कौन-सा जैवविज्ञान काम करता है, इसे अभी तक समझा नहीं जा सका है। जंगल में कोई भी हाथी प्रजाती हमेशा दल बनाकर रहती है. किसी भी एक आम दल में 30-40 बच्चे, बूढ़े, जवान नर और मादा रहते है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...