Homeलड़की को कोठे से आज़ाद कर लाया प्रेमी और रचाई शादी, दिल...

लड़की को कोठे से आज़ाद कर लाया प्रेमी और रचाई शादी, दिल जीत लेगी इनकी कहानी

Published on

प्यार कभी भी किसी को किसी से भी हो जाता है। प्यार एक एहसास है। लोग अपने प्यार को पाने के लिए हर मुश्किल को पार कर देते है। कुछ लोग तो अपनी जान तक देने से पीछे नही हटते है। प्यार करने के बाद इन्सान में एक अलग ही जनून देखने को मिलता है। इंसान सामने वाले को पाने के लिए हर हद पार कर जाता है। ऐसी ही एक घटना मध्य प्रदेश में देखने को मिली है।

प्यार स्नेह से लेकर खुशी की ओर धीरे – धीरे अग्रसर होता है। प्यार के खातिर लोग कुछ भी कर जाते हैं। यहां आकाश नाम के लडके ने अपनी प्रेमिका को पाने के लिए अपनी जान तक खतरे में डाल दी। आकाश ने अपनी प्रेमिका से शादी कर पुरे समाज को एक सकारात्मक संदेश भी दिया है।

लड़की को कोठे से आज़ाद कर लाया प्रेमी और रचाई शादी, दिल जीत लेगी इनकी कहानी

आकाश ने अपने प्यार को पाने के लिए अपनी जान जोखिम में डाली और उसे बचाया भी। इसके बाद उसने लड़की से कोर्ट मैरिज की और पूरे समाज को एक सकारात्मक संदेश भी दिया। आकाश ने भारती नाम की लडकी से कोर्ट में पहुंचकर शादी की है जहाँ उसके द्वारा उठाये गये कदम को देखकर सभी लोगो ने तालियाँ बजाकर उनका स्वागत किया है।

लड़की को कोठे से आज़ाद कर लाया प्रेमी और रचाई शादी, दिल जीत लेगी इनकी कहानी

समाज की तरफ से ऐसा माहौल देख कर इस प्रेमी जोड़े में भी ख़ुशी की लहर दौड़ पड़ी। भारती और आकाश उस समुदाय में रहते है जहाँ माँ बाप अपनी लडकियों को वेश्यावृत्ति के दंगल में धकेल देते है। छोटी छोटी बच्चियों को गंदे काम करने पर मजबूर किया जाता है। मालवा के नीमच, मंदसौर और रतलाम जिलो के आसपास इस तरह के समुदाय के 250 डेरे है जहाँ लडकियों को बेचना आम बात है।

लड़की को कोठे से आज़ाद कर लाया प्रेमी और रचाई शादी, दिल जीत लेगी इनकी कहानी

पुलिस – प्रशासन के प्रयासों के बावजूद यह काम होते रहते हैं। बांछडा समुदाय में बच्चियों के साथ होने वाले अन्याय को देखकर आकाश ने आवाज उठाई और उसने तय कर लिया कि अगर पुलिस प्रशासन इस गंदगी को नही मिटाता तो वह इसे खत्म करेगा।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...