Homeयह व्यक्ति था इतिहास का सबसे अमीर शख्स, इनकी दौलत के आगे...

यह व्यक्ति था इतिहास का सबसे अमीर शख्स, इनकी दौलत के आगे बिल गेट्स और जेफ बोजोस भी कुछ नहीं

Published on

हमने यह बचपन से ही सुना होता है कि राजाओं के पास काफी दौलत हुआ करती थी। इतिहास के पन्नों में ऐसे कई राजाओं का जिक्र मिलता है, जिनके पास दौलत के अथाह भंडार थे। अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस मॉडर्न हिस्ट्री के सबसे अमीर शख्स बन गए हैं। 10,25,625 करोड़ रुपए की नेटवर्थ के साथ उन्होंने सबको पीछे छोड़ दिया है। पर अगर इतिहास के सबसे अमीर शख्स की बात की जाए तो सिर्फ एक ही शख्स का नाम लिया जाता है और वो है मंसा मूसा।

यह इंसान आज से लगभग 738 साल पहले सन 1280 ई. को अफ्रीका की किसी अनजान जगह पर पैदा हुआ था। ये 14वीं सदी में अफ्रीका का राजा हुआ करता था। वो दुनियाभर में नमक और सोने का कारोबार करता था। उसकी दौलत के आगे जेफ बेजोस और बिल गेट्स जैसे लोग भी कुछ नहीं थे। मूसा की कुल संपत्ति बेजोस की नेटवर्थ से दोगुने से भी ज्यादा थी।

यह व्यक्ति था इतिहास का सबसे अमीर शख्स, इनकी दौलत के आगे बिल गेट्स और जेफ बोजोस भी कुछ नहीं

मनसा मूसा अपनी उम्र के 33वें साल में अबू बकर द्वितीय के बाद ये माली साम्राज्य का राजा बना। अफ्रीका के जंगलों में रहने वाले माली साम्राज्य के राजा मंसा मूसा ने करीब 1312 से 1337 तक शासन किया। उस दौर में यूरोप में भूखमरी फैली हुई थी और सिविल वॉर का दौर था, लेकिन कई अफ्रीकी साम्राज्य फल-फूल रहे थे।

यह व्यक्ति था इतिहास का सबसे अमीर शख्स, इनकी दौलत के आगे बिल गेट्स और जेफ बोजोस भी कुछ नहीं

मूसा का साम्राज्य वर्तमान घाना, टिंबकटू और माली के विशाल भू-भाग पर फैला था। माना जाता है कि मनसा मूसा दुनिया का सबसे अमीर आदमी था। मूसा के पास उस वक्त 27,34,200 करोड़ रु. की दौलत थी। मूसा जब सत्ता में था, तब उसने बहुत तेजी से अपना साम्राज्य बढ़ाया और इसे दो हजार मील तक फैला लिया था। मॉरिटेनिया, सेनेगल, जाम्बिया, गिनी, बुर्किला फासो, माली, नाइजर, नाइजीरिया और चाड के नाम से पहचाने जाने वाले देश मूसा के साम्राज्य का हिस्सा थे।

यह व्यक्ति था इतिहास का सबसे अमीर शख्स, इनकी दौलत के आगे बिल गेट्स और जेफ बोजोस भी कुछ नहीं

पुराने दौर में कई राजा तो ऐसे थे, जिनकी संपत्ति का अंदाजा लगाना बहुत ही मुश्किल था। जिस वक्त मूसा अफ्रीका पर राज कर रहा था, उस वक्त उसके पास करीब दो लाख सैनिक थे, जिसमें से 40 हजार तो सिर्फ निशानेबाज ही थे। मूसा का नमक और सोने का कारोबार था। उसके दौर में माली दुनियाभर में सोने का सबसे बड़ा प्रोड्यूसर देश था।

Latest articles

बसंत नवरात्रे में कालीबाड़ी में बंगाली छटा और धुनुची नृत्य बना आकर्षण का केंद्र

Faridabad: शहर के विभिन्न मंदिरों में नवरात्रे का अंतिम दिन और रामनवमी धूमधाम से...

दिन में हुई रात, तेज आंधी के साथ जमकर हुई बरसात

Faridabad: फरीदाबाद में गुरूवार को शाम होते- होते मौसम ने एक बार फिर करवट...

गांव मोहना में किया विशाल दंगल प्रतियोगिता का आयोजन

Faridabad: गांव मोहना में नवरात्रों के अवसर पर आयोजित अष्टमी मेला में विशाल दंगल...

सात दिन पहले लापता व्यक्ति को किया परिजनों के हवाले

Faridabad: क्राइम ब्रांच कैट की टीम ने 39 वर्षीय गुमशुदा व्यक्ति को तलाश कर...

More like this

बसंत नवरात्रे में कालीबाड़ी में बंगाली छटा और धुनुची नृत्य बना आकर्षण का केंद्र

Faridabad: शहर के विभिन्न मंदिरों में नवरात्रे का अंतिम दिन और रामनवमी धूमधाम से...

दिन में हुई रात, तेज आंधी के साथ जमकर हुई बरसात

Faridabad: फरीदाबाद में गुरूवार को शाम होते- होते मौसम ने एक बार फिर करवट...

गांव मोहना में किया विशाल दंगल प्रतियोगिता का आयोजन

Faridabad: गांव मोहना में नवरात्रों के अवसर पर आयोजित अष्टमी मेला में विशाल दंगल...