Homeक्या आप जानते हैं डॉक्टर्स का ये राज, इसे जानकार यकीन नहीं...

क्या आप जानते हैं डॉक्टर्स का ये राज, इसे जानकार यकीन नहीं करेंगे आप

Published on

आप डॉक्टर्स के पास तो यकीनन गए ही होंगे और उनकी गंदी हैंडराइटिंग भी आपने जरुर देखी होगी। आपने अक्सर ऐसा देखा होगा कि डॉक्टर्स की राइटिंग को लेकर लोग मज़ाक बहुत उड़ाते है। आप भी ज़रूर किसी ना किसी दिन डॉक्टर्स के पास तो गए ही होंगे और अमूमन उनकी बेहद ख़राब गंदी हैंडराइटिंग आपने देखी होगी। हर डॉक्टर खराब लिखावट में आपको दवा का नाम लिखकर देता है। जिसे पढ़ने की कोशिश करते करते आपका दिमाग ही चकरा जाए।

हर डॉक्टर खराब लिखावट में आपको दवा का नाम लिखकर देता है। जिसे पढ़ने की कोशिश करते करते आपका दिमाग ही चकरा जाए। डॉक्टर्स का अक्सर ऐसा कहना होता है कि उनकी हैंडराइटिंग के पीछे एक कारण होता है। आपके मन में सवाल आया होगा कि ऐसा कोनसा कारण है जो उनकी लिखावट इतनी गंदी होती है।

क्या आप जानते हैं डॉक्टर्स का ये राज, इसे जानकार यकीन नहीं करेंगे आप

मन में सवाल में जरुर आया होगा कि क्या सारे ही डॉक्टर्स की हैंडराइटिंग गंदी होती है? डॉक्टर की लिखावट का कारण जानकर आप नाराज़ के साथ – साथ हैरान भी हो सकते हैं। जिले के साथ – साथ देश के सभी डॉक्टर्स की लिखावट एक जैसी खराब है। इंसान अक्सर यही सोचकर रह जाता है कि डॉक्टर्स जान बूझकर ऐसा करते हों, इतना पढ़ा लिखा होने के बावजूद डॉक्टरों दवाइयों का नाम गंदी हैंडराइटिंग में क्यों लिखते हैं?

क्या आप जानते हैं डॉक्टर्स का ये राज, इसे जानकार यकीन नहीं करेंगे आप

अगर किसी एक डॉक्टर की लिखावट बुरी हो तो समझ भी आता है मगर यहां तो सभी ही लिखावट एक जैसी खराब है। हमने अक्सर देखा है कि आम जनता अक्सर ऐसा सोचती है कि चिकित्सकों की स्पेशल लिखावट के पीछे कोई कारण होता है ताकि कोई मरीज इसे पढ़ न पाए या फिर यह इनकी मेडिकल प्रैक्टिस का एक हिस्सा होता है। इस रहस्य से पर्दा उठ चुका है और खुलासा हो चुका है कि ये डॉक्टर लोग क्यों इतनी बुरी लिखावट लिखते हैं।

क्या आप जानते हैं डॉक्टर्स का ये राज, इसे जानकार यकीन नहीं करेंगे आप

आज भी डॉक्टर्स की लिखी हुई पर्ची पढ़कर कई लोगों का दिमाग घूम जाता है। कुछ दिनों पहले एक सर्वे भी हुआ था उस सर्वे में ये जानने की कोशिश की गई कि चिकित्सकों की खराब लिखावट के पीछे वजह क्या है? इस सर्वे में आई रिपार्ट की मानी जाए तो जब डॉक्टर्स से पूछा गया की हर डॉक्टर अपने पर्चे में इतनी अजीब हैंडराइटिंग क्यों रखते हैं तो उन्होंने बताया की इसके पीछे कोई बड़ा कारण नहीं होता है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...