Homeजब गांगुली के घर खाना खाने पहुंचे थे सचिन तेंदुलकर, दिग्गज ने...

जब गांगुली के घर खाना खाने पहुंचे थे सचिन तेंदुलकर, दिग्गज ने याद किया वो खास पल

Array

Published on

भारत के दो महान बल्लेबाज सौरव गांगुली और सचिन तेंदुलकर को आज किसी परिचय की ज़रूरत नहीं है। क्रिकेट के मैदान पर जिन दो क्रिकेटरों की जोड़ी कमाल दिखाती हो वो असल जिंदगी में भी उतने अच्छे दोस्त हों जरुरी नहीं है। हां, अगर वो जोड़ी सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की हो तो ये जरुर हो सकता है।

सचिन और गांगुली के नाम कई रिकार्ड्स हैं जिन्हे तोडना काफी मुश्किल है। जिस पिच पर ये दोनों महान बल्लेबाज जमकर चौके-छक्के लगाते थे मैदान के बाहर भी इनकी दोस्ती बहुत गहरी थी। सचिन और सौरव ने एक साथ 15 सालों तक मैच खेला, लेकिन इनमें से किसी को भी एक दूसरे से कभी जलन नहीं हुई।

जब गांगुली के घर खाना खाने पहुंचे थे सचिन तेंदुलकर, दिग्गज ने याद किया वो खास पल

दोनों इतने गहरे दोस्त थे कि एक दूसरे के घर खाने पर चले जाया करते थे। आज भी ये दोस्ती बिल्कुल वैसी ही बरकरार है। ऐसे ही एक खूबसूरत पल को याद करते हुए सचिन ने एक पुरानी तस्वीर शेयर की है। सचिन ने थर्सडे थ्रोबैक में अपने और सौरव की एक तस्वीर शेयर की है जिसमें दोनों घर में बैठकर खाना खा रहे हैं।

जब गांगुली के घर खाना खाने पहुंचे थे सचिन तेंदुलकर, दिग्गज ने याद किया वो खास पल

इन दोनो की जैसे दोस्ती आज-तक भारतीय क्रिकेट टीम में देखने को नहीं मिली है। सचिन ने इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा- दादी के घर पर बिताई गई एक शानदार शाम। खाने का बहुत लुत्फ उठाया। उम्मीद करता हूं मां अच्छी होंगी और उन्हें मेरी शुभकामनाएं देना। बता दें कि सौरभ गांगुली दादा के नाम से भी जाने जाते हैं, लेकिन सचिन उन्हें दादी बुलाते हैं।

जब गांगुली के घर खाना खाने पहुंचे थे सचिन तेंदुलकर, दिग्गज ने याद किया वो खास पल

सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की पार्टनरशिप की तो पुरी दुनिया मुरीद है। इन दोनों खिलाड़ियों के नाम वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड दर्ज है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...