HomeFaridabadअब जल्द ही फरीदाबाद शहर पाने जा रहा है बंदरो से छुटकारा,...

अब जल्द ही फरीदाबाद शहर पाने जा रहा है बंदरो से छुटकारा, जल्द ही बनेंगे बंदरो के लिए आश्रय घर

Published on

अरावली इतनी सुंदर पहाड़ी है यहां पर लोग घूमने आते है। लोगो को अरावली में प्रकृति से बहुत प्यार होता है क्यू। यह हिल ऐसी हिल है जहा पर लोग घूमना बहुत पसंद करते है।ऐसे में लोग बंदरो से बहुत परेशान दिखाई देते है जो अपने साथ अपने बीवी बच्चो को घुमाने ले है उन्हे अरावली इतनी सुंदर पहाड़ी है यहां पर लोग घूमने आते है। लोगो को अरावली में प्रकृति से बहुत प्यार होता है क्यू। यह हिल ऐसी हिल है जहा पर लोग घूमना बहुत पसंद करते है।ऐसे में लोग बंदरो से बहुत परेशान दिखाई देते है जो अपने साथ अपने बीवी बच्चो को घुमाने ले है उन्हे एक डर लगा रहता है की कही कोई बंदर न अजाए।

अब जल्द ही फरीदाबाद शहर पाने जा रहा है बंदरो से छुटकारा, जल्द ही बनेंगे बंदरो के लिए आश्रय घर

आपको बता दे की हरियाणा में बंदरो की संख्या इतनी बढ़ती जा रही है।ऐसे में लोग बहुत परेशान नजर आ रहे है।उनका कहना है की शहर में बहुत सारे बंदर होने के कारण वे लोग दर में है कही उन्हे कोई दिक्कत का सामना न करना पड़ जाए। कई जिले ऐसे है जहा बंदर आवारा घूमते है।जिससे वे किसी को भी नुकसर पहुंचा सकते है।

अब जल्द ही फरीदाबाद शहर पाने जा रहा है बंदरो से छुटकारा, जल्द ही बनेंगे बंदरो के लिए आश्रय घर

लेकिन अब उद्धयोगिक नगरी को जल्द ही बंदरो से छुटकारा मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।नगर निगम बंदरो को पकड़ने की योजना बनाने वाली है।अब बंदरो को सूरज कुंड की अरावली हिल्स के वन में रखने व्यवस्था कराई जायेगी।

अब जल्द ही फरीदाबाद शहर पाने जा रहा है बंदरो से छुटकारा, जल्द ही बनेंगे बंदरो के लिए आश्रय घर

बंदरो के लिए जालीदार हट्स बनाई जाएगी।उनके अंदर बंदरो की खाने से लेकर पीने तक की सभी व्यवस्था करी जायेगी।बता से की फरीदाबाद जिले में फिलहाल दस हजार से भी अधिक बंदर नजर आते है।

बंदरो से लोगो की समस्या इतनी बड़ गई है की उन्हे कई परेशानी का सामने करना पड़ रहा है।अधिकारियों की माने तो लोगो की परेशानी देखते हुए बंदरो को पकड़ने की योजना बनाई जा रही है।

अब जल्द ही फरीदाबाद शहर पाने जा रहा है बंदरो से छुटकारा, जल्द ही बनेंगे बंदरो के लिए आश्रय घर

इसके साथ उन्होंने यह भी बताया की अब ठीक दो से तीन महीने के अंदर अंदर सभी बंदरो को पकड़ने का अभियान शुरू होगा।बंदरो को पकड़ने के लिए वन विभाग से भी संपर्क किया जाएगा।

नगर निगम के अधिकारियों का यह भी कहना है की निगम कर्मी जिस बंदर को पकड़ेगा उसके ऊपर एक टैग लगा दिया जाएगा।उन्होंने यह भी बताया की बंदरो को पकड़ने की जिम्मेदारी निजी संस्था को दी गई है।

अब जल्द ही फरीदाबाद शहर पाने जा रहा है बंदरो से छुटकारा, जल्द ही बनेंगे बंदरो के लिए आश्रय घर

ऐसे में बंदरो को पकड़ने के मामले में बहाने बाजी करती दिखाई पड़ती है।निगम को यह नही पता होता की किस बंदर को पकड़ा गया और किसको नही।ऐसे में निजी संस्था निगम से पैसे वसूल लेती है।इसी को देखते हुए बंदरो पर टैग लगाने की योजना बनाई गई है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...