Homeकॉलेज में सनी देओल-प्रियंका चोपड़ा का बेटा दे रहा 12वीं प्री-बोर्ड एग्जाम,...

कॉलेज में सनी देओल-प्रियंका चोपड़ा का बेटा दे रहा 12वीं प्री-बोर्ड एग्जाम, जानिये पूरा मामला

Array

Published on

बिहार में इन दिनों बारहवीं प्री-बोर्ड की परीक्षा चल रही है। बिहार के अन्य जिलों की तरह ही पश्चिम चंपारण के बेतिया स्थित राम लखन सिंह यादव महाविद्यालय में भी बारहवीं प्री-बोर्ड की परीक्षा चल रही है। इसमें एक परीक्षार्थी ने अपनी कॉपी पर शरारतन अपनी मां का नाम प्रियंका चोपड़ा और पिता का नाम सनी देओल लिख दिया।

परीक्षार्थी सवालों के अजब-गजब जवाब दे रहे हैं। एक परीक्षार्थी ने जहां सनी देओल को अपना पिता बता दिया तो मां के नाम की जगह पर प्रियंका चोपड़ा लिख दिया। यह कापी इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गई। लोग इस पर खूब कमेंट कर रहे हैं।

कॉलेज में सनी देओल-प्रियंका चोपड़ा का बेटा दे रहा 12वीं प्री-बोर्ड एग्जाम, जानिये पूरा मामला

साथ ही एक-दूसरे से सवाल भी कर रहे हैं कि क्या प्रियंका चोपड़ा-सनी देओल का बेटा बिहार से इंटर की पढ़ाई कर रहा है? सरी परीक्षार्थी ने इतिहास के सवाल के जवाब में अपनी बेवफाई की कहानी लिख दी। बेतिया के राम लखन सिंह यादव कॉलेज में चल रही 12वीं प्री-बोर्ड की परीक्षा में छात्रों द्वारा परीक्षा की कॉपी में अजीबोगरीब जवाब लिखी जा रही है।

कॉलेज में सनी देओल-प्रियंका चोपड़ा का बेटा दे रहा 12वीं प्री-बोर्ड एग्जाम, जानिये पूरा मामला

दो परीक्षार्थियों की कॉपी वायरल है जिसमें से एक ने अपने पिता के नाम के स्थान पर सनी देओल लिख दिया तो माता के नाम की जगह प्रियंका चोपड़ा का नाम। वहीं, दूसरे छात्र ने प्रश्न के उत्तर में अपने बेवफाई की पूरी कहानी ही लिख डाली। इन कॉपियों की तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हो रही है। उस परीक्षार्थी की शरारत का अंत वहीं पर नहीं हुआ। परीक्षा के दौरान एक सवाल पूछा गया था कि वह पुरातत्व से क्या समझता है।

कॉलेज में सनी देओल-प्रियंका चोपड़ा का बेटा दे रहा 12वीं प्री-बोर्ड एग्जाम, जानिये पूरा मामला

जवाब में छात्र ने लिख दिया- “यह मेरे मास्टर ने नहीं पढ़ाया है, मैं पुरातत्व से कुछ नहीं समझता हूं। राम लखन सिंह यादव कॉलेज के पहले आन्सर शीट पर शिवशंकर कुमार नाम के परीक्षार्थी ने अपनी मां के नाम के बदले प्रियंका चोपड़ा का नाम लिखा है तो वहीं, पिता का नाम सनी देओल लिख दिया है। उसने कॉपी में रॉल नंबर वाली जगह पर कुछ नहीं लिखा है।

प्रश्न में पूछा गया कि जजिया कर क्यों समाप्त किया गया? छात्र ने इसका उत्तर दिया कि रजिया से प्यार के कारण अकबर ने जजिया कर हटा दिया था। इसके अलावा, एक अन्य सवाल- पुरातत्व से आप क्या समझते हैं के जवाब में छात्र ने लिखा कि शिक्षक ने इसके बारे में नहीं पढ़ाया है, और पुरातत्व से कुछ नहीं समझते हैं।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...