Homeकिस्मत देखिए जिस पत्थर को बेकार समझकर कूड़े में फेंकने जा रही...

किस्मत देखिए जिस पत्थर को बेकार समझकर कूड़े में फेंकने जा रही थी वो निकला 20 करोड़ का हीरा

Published on

किस्मत का कुछ नहीं पता होता। किसी भी पल में बदल सकती है। कहते हैं कब, कहां, किसे, कौन और कैसे मिल जाए, कुछ कहा नहीं सकता। बस आपकी क़िस्मत बेहतरीन होनी चाहिए। ऐसा ही कुछ ब्रिटेन में रहने वाली एक पेंशनर्स महिला के साथ हुआ। घर की साफ-सफाई के दौरान महिला को कुछ ऐसा मिला, जिसकी कीमत जान किसी के भी पैरों तले जमीन खिसक जाए।

इस जहान में सभी कुछ किस्मत का खेल है। किस्मत कब पलट जाए किसी को पत नहीं होता। महिला घर की सफाई कर रही थी। घर की आलमारी में पुराने कपड़ों के बीच उसे एक पत्थर मिला। महिला ने उसे साधारण पत्थर समझा और उसे कूड़े के फेंकने की तैयारी कर ली।

किस्मत देखिए जिस पत्थर को बेकार समझकर कूड़े में फेंकने जा रही थी वो निकला 20 करोड़ का हीरा

घर के फालतू सामानों केो साथ महिला ने इसे कूड़े में फेंक दिया, लेकिन उसके पड़ोस में रहने वाली महिला ने उसे सलाह दी कि उसे फेंकने से पहले वो एक बार जांच लें। महिला की उम्र 70-80 के बीच है और उसने कुछ सालों पहले कॉस्ट्यूम ज्वेलरी समझकर एक पत्थर ख़रीदा था। एक Car Boot Sale में कई चीज़ों के साथ महिला ने ये पत्थर भी ख़रीदा था।

किस्मत देखिए जिस पत्थर को बेकार समझकर कूड़े में फेंकने जा रही थी वो निकला 20 करोड़ का हीरा

जिनकी किस्मत अच्छी होती है कोई प्रतिभा बिना ही वह राजगद्दी में बैठकर राज करता है। महिला ने उसे साधारण पत्थर समझा और उसे कूड़े के फेंकने की तैयारी कर ली। घर के फालतू सामानों केो साथ महिला ने इसे कूड़े में फेंक दिया, लेकिन उसके पड़ोस में रहने वाली महिला ने उसे सलाह दी कि उसे फेंकने से पहले वो एक बार जांच लें।

किस्मत देखिए जिस पत्थर को बेकार समझकर कूड़े में फेंकने जा रही थी वो निकला 20 करोड़ का हीरा

कब कहां किसी कौन सी चीज कैसे मिल जाए कुछ कहा नहीं जा सकता। जिसकी किस्मत में लिखा हो जो चीज वह उसे हर हाल में मिल ही जाती है। कूड़े में मिले उस पत्थर को महिला ने पेंशनभोगी महिला ने Featonby के नीलामीकर्ताओं को भेजा, ताकि उस पत्थर के बारे में जानकारी हासिल की जा सके। नीलामीकर्ता मार्क लेन ने जब उस पत्थर की जांच की तो हौरान रह गए, वो पत्थर नहीं बल्कि बेशकीमती हीरा निकला।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...