Homeये है दुनिया का सबसे अनोखा शहर, जहां नहीं हुई सात दशक...

ये है दुनिया का सबसे अनोखा शहर, जहां नहीं हुई सात दशक से किसी की मौत

Published on

अगर आपसे कोई कहे कि इस दुनिया में ऐसी भी जगह है जहां दशकों से किसी की मौत नहीं हुई तो आप भी वहां ज़रूर जाना चाहेंगे। दुनियाभर में रहस्यों की कमी नहीं है। आज हम आपको एक ऐसे शहर के बारे में बताने जा रहे हैं जहां सात दशक यानी करीब 70 साल से किसी की मौत नहीं हुई। ये बात जानकर आपको हैरानी जरूर होगी लेकिन बात बिल्कुल सच है।

इस बात पर कई लोग भरोसा नहीं कर पाए हैं। लेकिन हम बात कर रहे हैं, नार्वे के एक शहर के बारे में जहां पिछले 70 साल में किसी इंसान की मौत नहीं हुई है। इस शहर का नाम लॉन्ग इयरबेन है।

ये है दुनिया का सबसे अनोखा शहर, जहां नहीं हुई सात दशक से किसी की मौत

ऐसा कहा जाता है कि इस स्थान पर कोई भी मर नहीं सकता है। इसकी वजह जानकर आपके मन में सवाल खड़ा होगा कि आखिर ऐसा क्यों होता है? इस देश में मई महीने से लेकर जुलाई महीने के आखिरी तक सूर्य अस्त नहीं होता है। यहां पर लगातार 76 दिनों तक दिन रहता है और रात नहीं होती है। यहां के स्वालबार्ड में भी सूर्य 10 अप्रैल से 23 अगस्त तक नहीं डूबता है।

ये है दुनिया का सबसे अनोखा शहर, जहां नहीं हुई सात दशक से किसी की मौत

लॉन्ग इयरबेन में यहां के प्रशासन ने एक कानून बनाया हुआ है जिसकी वजह से यहां लोग मर नहीं सकते हैं। यहां पर इंसानों की मौत पर बैन लगाकर रखा गया है। नार्वे के उत्तरी ध्रुव में स्थित लॉन्ग इयरबेन में सालभर भीषण ठंड पड़ती है जिसकी वजह से यहां पर मृतकों के शव सड़ नहीं पाते हैं। इसकी वजह से यहां पर प्रशासन ने इसानों के मरने पर बैन लगाया हुआ है।

ये है दुनिया का सबसे अनोखा शहर, जहां नहीं हुई सात दशक से किसी की मौत

सबसे हैरानी वाली बात यह है कि इस शहर में 70 सालों से किसी की मौत नहीं हुई है। इस शहर में 100 साल पहले किसी की मौत हुई थी। इस अनोखे शहर में ईसाई धर्म के ज्यादा लोग रहते हैं।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...