Homeगाड़ी रोक बुजुर्ग के साथ सड़क किनारे बैठ गए IAS अफसर, तस्वीरें...

गाड़ी रोक बुजुर्ग के साथ सड़क किनारे बैठ गए IAS अफसर, तस्वीरें वायरल

Published on

सोशल मीडिया पर रोजाना कई तस्वीरें वायरल होती हैं। इन तस्वीरों में काफी कुछ छुपा होता है। आईएएस अफसरों को आज के दौर में आमतौर पर काफी रौब के साथ ही चलते देखा जाता है। आम लोगों आसानी से बड़े अफसरों के साथ मिल भी नहीं पाते हैं लेकिन एक आईएएस की ऐसी तस्वीर सामने आई है, जो लोगों को काफी पसंद आ रही है। आईएएस अफसर रमेश घोलप ने अपनी कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की हैं, जिनमें वो सड़क किनारे बैठे एक बुजुर्ग के साथ बात करते नजर आ रहे हैं।

इस तस्वीर में वह काफी कम्फर्ट नज़र आ रहे हैं। तस्वीरें सोशल यूजर्स को काफी पसंद आई हैं। आईएएस रमेश घोलप ने जो तस्वीरें शेयर की हैं, उनमें वो सड़क किनारे एक बुजुर्ग के साथ बात कर रहे हैं।

गाड़ी रोक बुजुर्ग के साथ सड़क किनारे बैठ गए IAS अफसर, तस्वीरें वायरल | ias  officer sitting with elderly man on road pics goes viral social media -  Hindi Oneindia

रमेश कहीं जा रहे थे इसी दौरान सड़क किनारे बैठे एक बुजुर्ग को देख उन्होंने गाड़ी रुकवा ली। वो गाड़ी से उतरकर सड़क पर बैठे उस बुजुर्ग के पास जाकर बैठ गए। इस दौरान उन्होंने बुजुर्ग के साथ हंसी मजाक भी की। अपनी तस्वीरें रमेश घोलप ने अपने टि्वटर हैंडल से शेयर करते हुए इनको खास कैप्शन दिया है। उन्होंने लिखा है- ‘तज़ुर्बा है मेरा मिट्टी की पकड़ मजबूत होती है, संगमरमर पर तो पांव फिसलते देखे हैं हमने।

गाड़ी रोक बुजुर्ग के साथ सड़क किनारे बैठ गए IAS अफसर, तस्वीरें वायरल | ias  officer sitting with elderly man on road pics goes viral social media -  Hindi Oneindia

उनकी इस सादगी ने यह यकीन दिलवाया है कि सभी अफसर एक जैसे नहीं होते हैं। आईएएस अफसर रमेश घोलप की ये तस्वीर सोशल मीडिय पर लोगों को काफी पसंद आ रही हैं। कई लोगों ने उनकी सादगी और लोगों से मिलनसार होने के लिए तारीफ की है। रमेश झारखंड में तैनात हैं। वैसे वह महाराष्ट्र के सोलापुर जिले के महागांव के रहने वाले हैं। उनके आईएएस बनने का कहानी भी खास है। उन्होंने 12वीं में ही पिता को खो दिया था।

गाड़ी रोक बुजुर्ग के साथ सड़क किनारे बैठ गए IAS अफसर, तस्वीरें वायरल | ias  officer sitting with elderly man on road pics goes viral social media -  Hindi Oneindia

घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। रमेश का बाएं पैर में पोलियो का भी शिकार हो चुका है। इस सबके बावजूद उन्होंने परिवार को भी संभाला और तैयारी भी जारी रखी। 2011 में उन्होंने ऑल इंडिया 287 रैंक के साथ यूपीएससी की परीक्षा पास की।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...