HomeTrendingसपना चौधरी के नाम जारी हुआ गिरफ्तारी वारंट, तीन साल पहले का...

सपना चौधरी के नाम जारी हुआ गिरफ्तारी वारंट, तीन साल पहले का है मामला

Published on

हरियाणवी डांसर सपना चौधरी एक बार फिर चर्चा में हैं की मुश्किलें बढ़ गई हैं। लखनऊ कोर्ट ने डांसर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। सपना चौधरी पर डांस कार्यक्रम रद्द करने और टिकट के पैसे वापस नहीं करने का आरोप है। अब 22 नवंबर को कोर्ट में इस मामले में अगली सुनवाई होगी।

बुधवार को लखनऊ अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट शांतनु त्यागी ने सपना चौधरी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करते हुए पुलिस को 22 नवंबर तक इस पर अमल करने को कहा।

सपना चौधरी के नाम जारी हुआ गिरफ्तारी वारंट, तीन साल पहले का है मामला

इससे पहले 14 अक्टूबर, 2018 को एसआई फिरोज खान ने थाना आशियाना में मामले की एफआईआर दर्ज कराई थी। इसमें सपना चौधरी के साथ इस आयोजन के आयोजक जुनैद अहमद, नवीन शर्मा, पहल संस्थान कीवद अली, अमित पांडे और रत्नाकर उपाध्याय के नाम भी शामिल किए गए थे।

सपना चौधरी के नाम जारी हुआ गिरफ्तारी वारंट, तीन साल पहले का है मामला

बता दें कि यह मामला तीन साल पहले का है। जानकारी के अनुसार 13 अक्टूबर 2018 को दोपहर तीन बजे से रात 10 बजे तक स्मृति उपवन में सपना व अन्य का कार्यक्रम था, जिसके लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन टिकट 300 रुपये प्रति व्यक्ति के हिसाब से बिके।

सपना चौधरी के नाम जारी हुआ गिरफ्तारी वारंट, तीन साल पहले का है मामला

हजारों की संख्या में लोग टिकट लेकर इस कार्यक्रम को देखने के लिए मौजूद थे लेकिन सपना चौधरी रात 10 बजे तक नहीं आईं। इस पर दर्शकों ने हंगामा किया।

सपना चौधरी के नाम जारी हुआ गिरफ्तारी वारंट, तीन साल पहले का है मामला

इसके बाद टिकट धारकों के पैसे भी वापस नहीं किए गए। 4 सितंबर 2021 को कोर्ट ने इस मामले में सपना चौधरी की डिस्चार्ज अर्जी खारिज कर दी थी। अब सपना समेत अन्य सभी आरोपियों पर मामला तय करने का आरोप लगाया जाना है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...