Online se Dil tak

किसान आंदोलन पर सत्यपाल मलिक की पीएम मोदी से मुलाकात के बाद शाह के बोल, लोगों ने अक्ल मार रखी है

किसान आंदोलन ने किस तरह किसानों की व्यथा का बखान किया इस बात से हर कोई वाकिफ हैं। वहीं जब मेघालय के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे किसान आंदोलन के दौरान वह पीएम मोदी से मिले थे, इस दौरान उन्होंने जो जबाव दिया वो चौंकाने वाला था।

गर्वनर सत्यपाल ने बताया कि जब मुलाकात हुई तो वह बहुत घमंड में थे। मैंने उन्हें कहा कि 500 किसान मर गए तो उन्होंने सवाल पूछा कि मेरे लिए मरे हैं? जब वह अमित शाह से मिले तो उन्होंने कहा कि इसकी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) लोगों ने अक्ल मार रखी है। मलिक हरियाणा के दादरी स्थित स्वामी दयाल धाम में माथा टेकने पहुंचे थे। जहां उन्हें फौगाट खाप ने सम्मानित भी किया गया। गवर्नर मलिक पहले भी भाजपा नेताओं और केंद्र सरकार पर हमला करते रहे हैं।

किसान आंदोलन पर सत्यपाल मलिक की पीएम मोदी से मुलाकात के बाद शाह के बोल, लोगों ने अक्ल मार रखी है
किसान आंदोलन पर सत्यपाल मलिक की पीएम मोदी से मुलाकात के बाद शाह के बोल, लोगों ने अक्ल मार रखी है

मेघालय के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने कहा कि मैं किसानों के मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने गया। वहां मेरी 5 मिनट में लड़ाई हो गई। प्रधानमंत्री बहुत घमंड में थे। जब मैंने उन्हें कहा कि 500 लोग मर गए हैं तो उन्होंने कहा, मेरे लिए मरे हैं?, मैंने कहा कि आपके लिए तो मरे हैं जो आप राजा बने हुए हो। वहां झगड़ा हो गया। उन्होंने कहा कि अमित शाह से मिल लो। मैं अमित शाह से मिला। इसके बाद अमित शाह ने मुझे कहा कि सत्यपाल किसान आंदोलन को लेकर गलत फीडबैक दिया गया है , तुम बेफिक्र रहो, मिलते रहो। यह यह किसी न किसी दिन समझ आ जायेगी ।

गवर्नर सत्यपाल मलिक ने कहा कि किसान आंदोलन अभी खत्म नहीं बल्कि स्थगित हुआ है। किसानों के साथ कोई नाइंसाफी या अत्याचार हुआ तो यह दोबारा शुरू हो सकता है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को किसानों को MSP पर कानूनी गारंटी देनी चाहिए। सरकार को ईमानदारी दिखाते हुए किसानों पर दर्ज केस तुरंत वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए जरूरत पड़ी तो वह गवर्नर का पद छोड़ने के लिए भी तैयार हैं।

किसान आंदोलन पर सत्यपाल मलिक की पीएम मोदी से मुलाकात के बाद शाह के बोल, लोगों ने अक्ल मार रखी है

इस बारे में भारतीय किसान यूनियन (दोआबा) के प्रधान मनजीत सिंह राय ने कहा कि गवर्नर और PM नरेंद्र मोदी की यह आपसी बात है लेकिन हमें लगता है कि यह सच ही होगा। पीएम मोदी अहंकारी हो चुके हैं। इसी वजह से 700 किसान शहीद हो गए लेकिन कृषि कानून वापसी में इतना वक्त लिया गया।

Read More

Recent