Online se Dil tak

मॉडलिंग छोड़ पहले ही प्रयास में बनीं IAS अफसर, ये है ऐश्वर्या के सफलता की कहानी

हर किसी का सपना होता है कि वह सिविल सेवा में जाकर देश की सेवा करे। यूपीएससी की परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। हर साल लाखों अभ्यर्थी इसके लिए आवेदन करते हैं और संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा देते हैं। अभ्यर्थी अपनी कड़ी मेहनत और लगन से अपने लक्ष्य को हासिल करते हैं। कहा जाता है कि आईएएस पीसीएस की परीक्षा पास करने के लिए परीक्षार्थी 18 से 20 घंटे पढ़ाई करते हैं। इतिहास में कई ऐसे लोग भी आईएएस बने, जो पहले से सम्मानित पद पर कार्यरत थे।

अपनी ऊंची पोस्ट, लाखों की सैलरी छोड़कर उन्होंने आईएएस बनने के लिए तैयारी शुरू की और सफलता हासिल की। इस लिस्ट में एक नाम और शामिल है, वह है आईएएस ऐश्वर्या श्योराण का।

मॉडलिंग छोड़ पहले ही प्रयास में बनीं IAS अफसर, ये है ऐश्वर्या के सफलता की कहानी
मॉडलिंग छोड़ पहले ही प्रयास में बनीं IAS अफसर, ये है ऐश्वर्या के सफलता की कहानी

उनकी उपलब्धि इसलिए भी खास है क्योंकि वह फेमिना मिस इंडिया की फाइनलिस्ट रह चुकी हैं। मॉडलिंग और ब्यूटी काॅम्पटीशन से जुड़ी एक लड़की ने पहले ही प्रयास में आईएएस बनकर बड़ी कामयाबी हासिल की। चलिए जानते हैं ऐश्वर्या श्योराण के बारे में।

आईएएस ऐश्वर्या श्योराण का जीवन परिचय

मॉडलिंग छोड़ पहले ही प्रयास में बनीं IAS अफसर, ये है ऐश्वर्या के सफलता की कहानी

ऐश्वर्या श्योराण मूल रूप से राजस्थान की रहने वाली हैं। उनका परिवार शुरू से ही दिल्ली में रहता था। उन्होंने दिल्ली के ही चाणक्यपुरी के संस्कृति स्कूल से शिक्षा हासिल की। ऐश्वर्या शुरू से ही पढ़ाई में होनहार थीं। 12वीं की परीक्षा में उन्होंने 97.5 प्रतिशत नंबर लाकर टॉपर किया। बाद में एश्वर्या ने दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की।

मॉडलिंग छोड़ पहले ही प्रयास में बनीं IAS अफसर, ये है ऐश्वर्या के सफलता की कहानी
मॉडलिंग छोड़ पहले ही प्रयास में बनीं IAS अफसर, ये है ऐश्वर्या के सफलता की कहानी

आईएएस ऐश्वर्या के पिता का नाम अजय श्योराण है। वह भारतीय सेना में कर्नल है और तेलंगाना के करीमनगर में तैनात हैं। उनकी मां का नाम सुमन है, जो कि एक गृहणी हैं। फिलहाल उनका पूरा परिवार मुंबई में रहता है।

मां का सपना करना चाहती थी पूरा

बचपन से ही ऐश्वर्या पढ़ाई में अच्छी थीं और उनका हमेशा से प्रशासनिक सेवा में जाने का लक्ष्य रहा लेकिन उनकी मां चाहती थीं कि एश्वर्या मिस इंडिया बनें। इसलिए उनका नाम भी ऐश्वर्या राय के नाम पर रखा।

मॉडलिंग छोड़ पहले ही प्रयास में बनीं IAS अफसर, ये है ऐश्वर्या के सफलता की कहानी

ऐश्वर्या ने भी अपनी मां का सपना पूरा करने के लिए मॉडलिंग की तरफ कदम बढ़ाया। साल 2014 में ऐश्वर्या दिल्ली की क्लीन एंड क्लियर फेस फ्रेश बनी और 2015 में मिस दिल्ली का खिताब अपने नाम किया।

बाद में ऐश्वर्या साल 2016 में फेमिना मिस इंडिया प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया। इस दौरान ऐश्वर्या फेमिना मिस इंडिया 2016 में 21वीं फाइनलिस्ट भी रहीं। उन्होंने अपनी मां के लिए इस मुकाम तक पहुंच कर दिखाया, पर अब उनके सपने की बारी थी।

मॉडलिंग छोड़ पहले ही प्रयास में बनीं IAS अफसर, ये है ऐश्वर्या के सफलता की कहानी

बिना कोचिंग पास की यूपीएससी परीक्षा

साल 2018 में ऐश्वर्या ने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी थी। इसके लिए उन्होंने 10 महीने घर पर ही पढ़ाई की और बिना किसी कोचिंग के पहले ही प्रयास में ऐश्वर्या ने सफलता हासिल कर ली। यूपीएससी ऑल इंडिया में 93वीं रैंक हासिल कर मॉडल रह चुकी ऐश्वर्या आईएएस अफसर बन गईं।

मॉडलिंग छोड़ पहले ही प्रयास में बनीं IAS अफसर, ये है ऐश्वर्या के सफलता की कहानी

बता दें कि वैसे तो ऐश्वर्या का चयन आईआईएम इंदौर में भी हुआ था लेकिन उन्होंने यहां एडमिशन नहीं लिया। उन्होंने अपना पूरा फोकस प्रशासनिक सेवा की परीक्षा पास करने में लगा दिया। जिसका परिणाम आज उनके सामने है। दस महीने तक की गई पढ़ाई का फल उन्हें मिल ही गया।

Read More

Recent