Online se Dil tak

अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित

90 के दशक में बॉलीवुड में कई सुपरहिट जोड़ी बनीं हैं। फिल्मों में काम करने के साथ-साथ कई एक्टर्स असल जिंदगी में भी रिलेशन में आ जाते हैं। इन्हीं एक्टर्स में से एक हैं खलनायक संजय दत्त और धक्-धक् गर्ल माधुरी दीक्षित नेने। उस समय संजय और माधुरी की जोड़ी को लोगों ने खूब पसंद किया। यह ऑन स्क्रीन जोड़ी दर्शकों की पसंदीदा कपल में से एक है। कई फिल्मों में उनकी सिजलिंग केमिस्ट्री ने उनके रिलेशन की अफवाह को हवा दी। उनके अफेयर की कहानियां सबका ध्यान अपनी तरफ खींच रही थी।

बॉलीवुड के गलियारों में इनका रिश्ता खूब सुर्खियां में था। उनकी शादी की अफवाहें जंगल में आग की तरह फैल रही थी। एक तरफ माधुरी हमेशा इन खबरों के बारे में चुप रही वहीं संजय ने उनकी खुलकर तारीफ की है।

अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित
अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित

दोनों की लवस्टोरी शादी तक पहुंचने ही वाली थी कि अचानक एक दूसरे से जुदा हो गए। दोनों ने ही सालों बाद तक कभी पलटकर एक दूसरे की तरफ नहीं देखा। आखिर ऐसा क्या हुआ जो इन दोनों के इस रिश्ते पर विराम लग गया। फिल्मों में काम करते हुए दोनों एक दूसरे के प्यार में पागल से हो गए थे।

अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित

जिस समय यह अफवाहें उड़ रही थी उस समय संजय दत्त पहले से ही शादीशुदा थे और उनकी एक बेटी भी थी। यह सच्चाई जानने के बाद भी माधुरी उन्हें चाहने लगी थी। जब माधुरी के घरवालों को इस रिश्ते के बारे में पता चला तो वे काफी नाराज़ थे और इसके खिलाफ थे। लेकिन माधुरी संजय के प्यार में पूरी तरह पागल हो चुकी थी संजय के लिए वह अपने परिवार को भी छोड़ने को तैयार थी।

मुंबई ब्लास्ट बना अलग होने की वजह

अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित
अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित

जैसा की सब जानते हैं साल 1993 में मुंबई में बम ब्लास्ट हुआ था। इसके कारण कई लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी थी। इस ब्लास्ट का आरोप अभिनेता संजय पर लगाया गया था। जिसके कारण उन्हें जेल भी जाना पड़ा। यह खबर सुनने के बाद माधुरी ने हमेशा के लिए संजय से रिश्ता तोड़ दिया।

अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित
अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित

जानकारी के अनुसार जेल में संजय दत्त ने माधुरी से बात करने की भी कोशिश की थी लेकिन माधुरी ने उन्हें पहचानने से इंकार कर दिया। इसके बावजूद संजय ने कई बार अभिनेत्री से बात करने की कोशिश की लेकिन माधुरी ने उन्हें कोई रिस्पॉन्स नहीं दिया।

अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित

करीब 16 महीने संजय ने जेल में गुजारे थे। इस दौरान ना ही माधुरी इन से जेल में मिलने गई और न घर पर मिलीं। बस इसी घटना के बाद से इनका रिश्ता खत्म हो गया। दोनों ने कभी एक दूसरे से बात नहीं की। इसके बाद माधुरी ने 1999 में अमेरिका के कार्डियो सर्जन श्रीराम माधव नेने से शादी कर ली। वहीं जेल से आने के बाद संजय भी जिंदगी में आगे बढ़ गए।

अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित
अगर नहीं होता 1993 मुंबई ब्लास्ट तो डॉ. नेने की जगह संजय दत्त की पत्नी होती माधुरी दीक्षित

करीब 26 सालों तक दोनों ने एक दूसरे से दूरी बनाए रखी। लेकिन 2019 में ये जोड़ी करण जौहर की फिल्म में एक बार फिर साथ दिखी थी फिल्म का नाम था कलंक। हालांकि ये फिल्म ज्यादा नहीं चल पाई, लेकिन इन दोनों को एक बार फिर से साथ देखकर फैंस को काफी ख़ुशी हुई थी।

Read More

Recent