Online se Dil tak

हरियाणा व्यापारी वर्ग ने सरकार के फरमान को ठहराया तानाशाही, रख दी यह मांग

महामारी की बढ़ती दर ने एक बार फिर से जिंदगी की चलती की रफ्तार को रोक दिया है इसी को लेकर सरकार द्वारा एक फरमान जारी हुआ कि शाम को 5:00 बजे तक ही अब दुकान खोली जाएंगी, इसको लेकर शहर के तमाम व्यापार मंडलो में खासा रोष व्याप्त है वही शहर के तमाम व्यापारी संगठन एक नंबर मार्केट में इस तुगलकी फरमान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने में जुट गए है। ।

व्यापारियों का कहना है कि बाजार को खोलने का समय सुबह 11:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक दिया जाए हरियाणा व्यापार मंडल के जिला प्रधान राम जुनेजा ने कहा कि महामारी के मामलों का बढ़ना बेहद ही चिंताजनक है लेकिन प्रशासन द्वारा दुकानों पर और व्यापारियों पर इस तरह के निर्णय को ठोकना कहीं ना कहीं गलत साबित होता है नीलम की बात सुनकर पहले ही व्यापारियों को झटका लग चुका है उनका कहना है कि विगत वर्ष भी महामारी के कारण व्यापारी वर्ग को सबसे अधिक घाटा हुआ था ।

हरियाणा व्यापारी वर्ग ने सरकार के फरमान को ठहराया तानाशाही, रख दी यह मांग
हरियाणा व्यापारी वर्ग ने सरकार के फरमान को ठहराया तानाशाही, रख दी यह मांग

फिलहाल सर्दियों का मौसम है ग्राहक भी कम ही नजर आते हैं यदि दुकानें 5:00 बजे तक खुलेगी तो ग्राहकों का बिल्कुल आना ना के बराबर हो जाएगा अमूमन ग्राहक 5:00 बजे ताकि ही दुकानों पर आते हैं क्योंकि यह दफ्तर से घर जाने का समय होता है इस समय लोग खरीदारी करके अपने घर पहुंचते हैं यदि दुकानें 5:00 बजे बंद हो जाएंगी तो ग्राहकों की आवाजाही खत्म हो जाएगी ।

सभी व्यापारी संगठनों ने बाजारों को खोलने का समय सुबह 11:00 बजे से लेकर रात 8:00 बजे तक करने की मांग की है जिससे दुकानदार और व्यापारी वर्ग को आर्थिक नुकसान ना देना पड़े रामजी जानी गहरी कहां की दुकानदार और व्यापारी महावारी के दौरान पूरी तरह से प्रशासन के साथ है और दुकान का जहां अपनी दुकान पर टाइपिंग मशीन लगा वही बिना माचिस किसी भी ग्राहक को सामान नहीं देंगे ।

हरियाणा व्यापारी वर्ग ने सरकार के फरमान को ठहराया तानाशाही, रख दी यह मांग
हरियाणा व्यापारी वर्ग ने सरकार के फरमान को ठहराया तानाशाही, रख दी यह मांग

व्यापारियों का कहना है कि बाजार को खोलने का समय सुबह 11:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक दिया जाए हरियाणा व्यापार मंडल के जिला प्रधान राम जुनेजा ने कहा कि महामारी के मामलों का बढ़ना बेहद ही चिंताजनक है लेकिन प्रशासन द्वारा दुकानों पर और व्यापारियों पर इस तरह के निर्णय को ठोकना कहीं ना कहीं गलत साबित होता है नीलम की बात सुनकर पहले ही व्यापारियों को झटका लग चुका है उनका कहना है

विगत वर्ष भी महामारी के कारण व्यापारी वर्ग को सबसे अधिक घाटा हुआ था फिलहाल सर्दियों का मौसम है ग्राहक भी कम ही नजर आते हैं यदि दुकानें 5:00 बजे तक खुलेगी तो ग्राहकों का बिल्कुल आना ना के बराबर हो जाएगा अमूमन ग्राहक 5:00 बजे ताकि ही दुकानों पर आते हैं क्योंकि यह दफ्तर से घर जाने का समय होता है इस समय लोग खरीदारी करके अपने घर पहुंचते हैं यदि दुकानें 5:00 बजे बंद हो जाएंगी।

ग्राहकों की आवाजाही खत्म हो जाएगी सभी व्यापारी संगठनों ने बाजारों को खोलने का समय सुबह 11:00 बजे से लेकर रात 8:00 बजे तक करने की मांग की है जिससे दुकानदार और व्यापारी वर्ग को आर्थिक नुकसान ना देना पड़े रामजी जानी गहरी कहां की दुकानदार और व्यापारी महावारी के दौरान पूरी तरह से प्रशासन के साथ है और दुकान का जहां अपनी दुकान पर टाइपिंग मशीन लगा वही बिना माचिस किसी भी ग्राहक को सामान नहीं देंगे

Read More

Recent