Online se Dil tak

फिर बढ़ रहा प्रदूषण का स्तर, फरीदाबाद, गुरुग्राम सहित हरियाणा के इन जिलों की स्थिति खराब

हरियाणा में एक बार फिर से प्रदूषण का स्तर बढ़ने लगा है। बीते दिनों हुई बारिश से लग रहा था कि प्रदूषण से राहत मिल जाएगी। बारिश से प्रदूषण का स्तर गंभीर श्रेणी से संतोषजनक श्रेणी में आ गया था, लेकिन एक बार फिर से प्रदूषण के स्तर में बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है। एक बार फिर से हरियाणा में प्रदूषण का स्तर बढ़ने लगा है। गुरुग्राम और फरीदाबाद हरियाणा के सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर बन चुके हैं। बारिश के चलते जहां रविवार तक गुरुग्राम का एयर क्वालिटी इंडेक्स 151 था वो अब बढ़कर 210 हो चुका है।

ऐसे ही फरीदाबाद का एयर क्वालिटी इंडेक्स रविवार को 130 था जो अब बढ़कर 178 हो गया है। ये हवा की गुणवत्ता के हिसाब से ‘मध्यम’ श्रेणी में आता है। हरियाणा के ज्यादातर जिलों में हवा की गुणवत्ता संतोषजनक श्रेणी में दर्ज की गई है।

फिर बढ़ रहा प्रदूषण का स्तर, फरीदाबाद, गुरुग्राम सहित हरियाणा के इन जिलों की स्थिति खराब
फिर बढ़ रहा प्रदूषण का स्तर, फरीदाबाद, गुरुग्राम सहित हरियाणा के इन जिलों की स्थिति खराब

बुधवार को हिसार का एयर क्वालिटी इंडेक्स 83, पानीपत का 92, सोनीपत का 52, जींद का 94, रोहतक का 153 दर्ज हुआ जो कि संतोषजनक से मध्यम श्रेणी में आता है। अब से दो दिन पहले तक हरियाणा के इन जिलों में प्रदूषण का स्तर खतरे के निशान से ऊपर जा चुका था, लेकिन बारिश के बाद इसमें काफी राहत देखने को मिली है।

फिर बढ़ रहा प्रदूषण का स्तर, फरीदाबाद, गुरुग्राम सहित हरियाणा के इन जिलों की स्थिति खराब

एयर क्वॉलिटी इंडेक्स जब 0-50 होता है तो इसे ‘अच्छी’ श्रेणी में माना जाता है। 51-100 को ‘संतोषजनक’, 101-200 को ‘मध्यम’, 201-300 को ‘खराब’, 301-400 को ‘अत्यंत खराब’, 400-500 को ‘गंभीर’ और 500 से ऊपर एयर क्वॉलिटी इंडेक्स को ‘बेहद गंभीर’ माना जाता है।

फिर बढ़ रहा प्रदूषण का स्तर, फरीदाबाद, गुरुग्राम सहित हरियाणा के इन जिलों की स्थिति खराब

विशेषज्ञों के मुताबिक, हवा में मौजूद बारीक कण (10 से कम पीएम के मैटर), ओजोन, सल्फर डायऑक्साइड, नाइट्रिक डायऑक्साइड, कार्बन मोनो और डायआक्साइड सभी सांस की नली में सूजन, एलर्जी और फेफड़ों को नुकसान पहुंचाते हैं।

Read More

Recent