Online se Dil tak

पंजाब चुनाव उम्मीदवारों ने लगाई डेरा सच्चा सौदा की तरफ दौड़, जेल से आएगा पॉलिटिकल विंग को संदेश

साध्वी यौन शौषण के दो मामलों में 20 साल की सजा काट रहे डेरा सच्चा के प्रमुख राम रहीम के जेल जाने के बाद पंजाब विधानसभा के चुनाव होने जा रहे है जिसको लेकर हर राजनीतिक दल डेरे की ओर दौड़ लगा रहा है, 9 जनवरी को कांग्रेस भाजपा आपके कई वरिष्ठ नेता भटिंडा स्थित डेयरी की सबसे बड़ी शाखा सलाबतपुरा में अपनी हाजिरी लगाने पहुंचे थे।

मगर राम रहीम इस बार जेल से ही डेरे के पॉलिटिक्स विंग को संदेशा भेजेंगे जो डेरा प्रेमियों को पहुंचाया जाएगा 23 जिलों में करीबन 300 बड़े डेरे हैं जिनका सीधा नाता सूबे की राजनीति से है यह डेरी प्रदेश के माझा मालवा दोआबा क्षेत्र में अपना एक अलग महत्व रखते हैं पड़ोसी राज्य हरियाणा के सिरसा जिले में स्थित डेरा सच्चा सौदा का पंजाब में मालवा रीजन की करीब 69 सीटों का प्रभाव रहा है

पंजाब चुनाव उम्मीदवारों ने लगाई डेरा सच्चा सौदा की तरफ दौड़, जेल से आएगा पॉलिटिकल विंग को संदेश
पंजाब चुनाव उम्मीदवारों ने लगाई डेरा सच्चा सौदा की तरफ दौड़, जेल से आएगा पॉलिटिकल विंग को संदेश

इससे पहले राम रहीम ने दो लोकसभा चुनावों मैं दिल्ली विधानसभा चुनाव हरियाणा के दो विधानसभा चुनावों में उदल को जेल से समर्थन दिया था लोकसभा चुनाव और हरियाणा विधानसभा 2019 के चुनाव के समय भी राम रहीम जेल में ही था राम रहीम के गद्दी संभालने के बाद यह पहला अवसर है कि पंजाब चुनाव के समय में राजनैतिक विंग से सीधे मुखातिब नहीं हो पा रहा है पिछले हरियाणा विधानसभा चुनाव में भी राम रहीम ने जेल से ही अपना संदेशा डेरा प्रेमियों को इसी तरह पहुंचाया था कहा जाता है कि डेरा सच्चा के पॉलिटिकल विंग्स के इशारों पर ही डेरा प्रेमी अपना वोट डालते हैं

पंजाब चुनाव उम्मीदवारों ने लगाई डेरा सच्चा सौदा की तरफ दौड़, जेल से आएगा पॉलिटिकल विंग को संदेश

डेरे के राजनीतिक दिन की बात की जाए तो इसकी स्थापना 1948 में शाह मस्ताना ने की थी 1960 में शाह सतनाम डेयरी की गद्दी पर बैठे थे उसके बाद 1990 में 23 साल की उम्र में राम रहीम दिल्ली की गद्दी पर बैठा साल 2007 में डेरा सच्चा सौदा ने राजनीतिक विंग की स्थापना की इसमें डेरा प्रमुख के विश्वासपात्र लोग शामिल है साथ ही हर राज्य के 45 सदस्य कमेटी भी इस पोलिटिकल विंग में स्थापित की गई

पंजाब चुनाव उम्मीदवारों ने लगाई डेरा सच्चा सौदा की तरफ दौड़, जेल से आएगा पॉलिटिकल विंग को संदेश

2007 में पंजाब चुनाव में प्रत्यक्ष रूप से डेयरी की राजनीति विंग ने कांग्रेस को अपना समर्थन दिया कांग्रेस को समर्थन देने के बावजूद भी शिरोमणि अकाली दल वह भाजपा कि गठबंधन की सरकार बनी इसके बाद डेरे और शिरोमणि अकाली दल के बीच काफी मतभेद पैदा हो गए भटिंडा में गुरु गोविंद सिंह का स्वरूप धरने पर डेरा प्रमुख राम रहीम के खिलाफ केस दर्ज किया गया और देशभर के सिखों ने विरोध प्रदर्शन किया यही कारण था कि 2012 में चुनाव में मालवा बेल्ट में कांग्रेस को समर्थन के बावजूद अकाली को 33 सीटें मिल गई थी साल 2017 में डेरे में कुछ सीटों पर अकाली दल और कांग्रेस को समर्थन दिया था

Read More

Recent