HomeUncategorizedइस गांव के लोगो पर है 700 साल श्राप, नही बनाते 2...

इस गांव के लोगो पर है 700 साल श्राप, नही बनाते 2 मंजिला मकान, यह है वजह

Published on

जैसा की आप सभी को पता ही है भारत विभिन्न संस्कृति संस्कारों और रीति-रिवाजों का देश है। भारत में अधिकतर गांव पाए जाते हैं। और हर एक गांव की अपनी एक अलग पहचान, अपनी एक अलग कहानी होती है। हर गांव में कोई ना कोई रहस्य हमेशा होता है। कोई भी गांव में एक ना एक कोई राज छुपा ही होता है। ऐसा ही एक गांव राजस्थान में भी है, जिसके बारे में हम आपसे बात करने वाले है। तो आइए आखिर क्या राज है, इस राजस्थान के चूरू गांव में।

यहां के स्थानीय लोगों से बात करी तो उन्होंने बताया कि, यह गांव पिछले 700 सालों से श्रापित है। जिस वजह से इस गांव में आज तक किसी ने दो मंजिला मकान बनाने की हिम्मत भी नहीं की। बताया जाता है कि 700 साल पहले इस गांव में भोमिया नाम का एक व्यक्ति रहता था। भूमिया की पत्नी शती हो गई थी। और पूरे गांव को उसने श्राप दिया था।

इस गांव के लोगो पर है 700 साल श्राप, नही बनाते 2 मंजिला मकान, यह है वजह

आपको बता दें एक दिन भोमिया को गांव में चोरों के आने की खबर मिली। जब लुटेरे आए और मवेशियों को चुराकर ले जाने लगे, उस समय भोमिया लुटेरों से अकेला भीड़ गया और चोरों ने उसे लहूलुहान कर दिया। उसके बाद वह दौड़ते दौड़ते अपने ससुराल पहुंचा और दूसरी मंजिल पर जाकर छिप गया। लेकिन उसके पीछे-पीछे चोर भी वहां तक पहुंच गए।

इस गांव के लोगो पर है 700 साल श्राप, नही बनाते 2 मंजिला मकान, यह है वजह

उसके बाद लुटेरे उसके ससुराल वालों से मारपीट करने लगे। जिसे देखकर भोमिया फिर से चोरों से भिड़ गया। उसके बाद उन्होंने भोमिया का गला काट दिया। भोमिया फिर भी लड़ते रहे और अपने गांव की सीमा पर आ पहुंचे। उसके बाद भूमिया धड़ उडसर गांव में गिर गया।

इस गांव के लोगो पर है 700 साल श्राप, नही बनाते 2 मंजिला मकान, यह है वजह

यहां लोगों ने भोमिया जी का मंदिर बनाया। ग्रामीणों का कहना है कि भूमिया की मौत के बाद उसकी पत्नी ने गांव वालों को श्राप दिया कि, गांव में अपने घर की दूसरी मंजिल पर मकान या कमरा बनाया तो उस पर मुश्किलें आ जाएंगी।

इस गांव के लोगो पर है 700 साल श्राप, नही बनाते 2 मंजिला मकान, यह है वजह

मानना है कि उस दिन के बाद किसी ने भी उस गांव में दूसरे मंजिल का मकान नहीं बनाया। यह घटना का कोई ऐतिहासिक सबूत नहीं है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...