Online se Dil tak

23 की उम्र में मिशाल बनी राजस्थान की दिव्या सैनी, प्रतिदिन कमाती है 41 हजार रुपए, जानिए कैसे

23 की उम्र में मिशाल बनी राजस्थान की दिव्या सैनी, प्रतिदिन कमाती है 41 हजार रुपए, जानिए कैसे :- पैसे कमाने की कोई उम्र नही होती, और अगर काबिलियत हो तो कुछ भी नमुमकिन नहीं हैं। हां आपने सही पढ़ा, पर इसका अंदाजा आप महज 23 साल की उम्र में रोजाना 41 हजार रुपए कमाने वाली राजस्थान में सीकर की रहने वाली दिव्या सैनी को जानकर लगा सकते हैं।

आप सोच रहे होंगे, 23 की उम्र 41 हजार कमाना कैसे मुमकिन है, तो चलिए जानते है दिव्या सैनी ने कैसे यह हैरान करने वाला काम किया। आपको बता दें, दिव्या के पिता सांवरमल सैनी ने हाल ही में अपनी बेटी की प्रतिभा और उसके करियर से जुड़ी तमाम बातें शेयर की हैं।

23 की उम्र में मिशाल बनी राजस्थान की दिव्या सैनी, प्रतिदिन कमाती है 41 हजार रुपए, जानिए कैसे
23 की उम्र में मिशाल बनी राजस्थान की दिव्या सैनी, प्रतिदिन कमाती है 41 हजार रुपए, जानिए कैसे

उन्होंने उसमें बताया है की, दिव्या महज 12 वर्ष की उम्र में 12वीं बोर्ड परीक्षा उत्तीर्ण कर ली थी। यहीं नहीं दिव्या का स्कूल में दाखिला छह साल की उम्र में हुआ था, वो भी सीधे कक्षा छह में, इससे पहले वे अपने बड़े भाई नीलोत्पल सैनी के द्वारा पढ़ती थी।

दिव्या सैनी का जीवन परिचय

नाम – दिव्या सैनी

निवासी – राधाकिशनपुरा सीकर

जन्मदिन – 15 जुलाई 1998

पिता – सांवर मल सैनी, संस्था प्रधान तिकोड़ी बड़ी सरकारी स्कूल

माता – किरण देवी, संस्था प्रधान, सरकारी स्कूल, खूड़

भाई – नीलोत्पल सैनी

शिक्षा – बीटेक एनआईटी पटना

जॉब – सॉफ्टवेयर इंजीनियर अमेजोन

वहीं दिव्या को 10वीं में 77.3 प्रतिशत तो 12वीं में 83.07 प्रतिशत अंक प्राप्त हुए थे। इसके बाद उन्होंने पटना एमएनआईटी से महज 17 साल में बीटेक पूरा किया, जिसके बाद अमेजोन कंपनी में 29 लाख के सालाना पैकेज के सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट इंजीनियर-1 पद पर हैदराबाद में उन्हे जॉब मिल गया।

23 की उम्र में मिशाल बनी राजस्थान की दिव्या सैनी, प्रतिदिन कमाती है 41 हजार रुपए, जानिए कैसे
23 की उम्र में मिशाल बनी राजस्थान की दिव्या सैनी, प्रतिदिन कमाती है 41 हजार रुपए, जानिए कैसे

आपको बता दें, यहां वे अपने भाई के साथ यह जॉब करती थी, पर कोरोना महामारी की वजह से इन दोनो को सीकर में रहकर वर्क फ्रॉम करना पड़ा। पर उनका सफर यहीं खत्म नही हुआ, दिव्या को अमेरिका से डेढ़ करोड़ के पैकेज के एक कंपनी में चयन हो गया।

वहीं आपकी जानकारी के लिए बता दें, नीलोत्पल सैनी ने अपने नाम ग्लोबल फाइबर चैलेंज की ओर से आयोजित कोर्थन एंड साइबर चैलेंज में कांस्य पदक और तृतीय स्थान किया हैं। वहीं वर्तमान में वे हैदराबाद में डीईशा कंपनी में सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं।

Read More

Recent