Online se Dil tak

भूखा-प्यासा पाकिस्तान से भारत आया शख्स, BSF ने खिलाया भरपेट खाना, भेजा वापिस

बॉर्डर पर तैनात BSF के जवान लगातार देश की सीमाओं पर अपनी पैनी नजर रखे हुए हैं। उनके आगे कोई विदेशी परिंदा भी पर नहीं मार सकता। लेकिन बीते शनिवार को सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करने वाले एक पाकिस्तानी व्यक्ति को पकड़ा। BSF गुजरात फ्रंटियर ने एक बयान जारी कर कहा कि व्यक्ति की पहचान पाकिस्तान में सिंध के थारपारकर जिले के उंधेर निवासी गुमानो के रूप में हुई। अपने परिजनों के साथ झगड़े के बाद वह घर से निकल गया था और अनजाने में भारतीय क्षेत्र में घुस आया। बयान में आगे कहा गया कि ‘सद्भावना के तौर पर उसे पाक रेंजर्स के हवाले कर दिया गया।’

अपने बयान में BSF ने कहा कि उस व्यक्ति को मिर्गी की बीमारी है। वह एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखता है। व्यक्ति के कुल 10 भाई-बहन हैं। 9 और 10 फरवरी की रात वह अनजाने में अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर गया और कुडा-चपरिया लिंक रोड पर जा पहुंच, जहां BSF की 56वीं बटालियन के जवानों उसे पकड़ लिया।

भूखा-प्यासा पाकिस्तान से भारत आया शख्स, BSF ने खिलाया भरपेट खाना, भेजा वापिस
भूखा-प्यासा पाकिस्तान से भारत आया शख्स, BSF ने खिलाया भरपेट खाना, भेजा वापिस

जानकारी के अनुसार व्यक्ति की हालत बहुत ज्यादा खराब थी और BSF के जवानों ने उसे भरपेट भोजन-पानी मुहैया कराया। ‘फ्लैग मीटिंग’ के बाद उसे पाक रेंजर्स के हवाले कर दिया गया।

भूखा-प्यासा पाकिस्तान से भारत आया शख्स, BSF ने खिलाया भरपेट खाना, भेजा वापिस

BSF अधिकारियों ने बताया कि इससे पहले भी इसी साल 5 जनवरी को इसी तरह एक पाकिस्तानी नागरिक को सौंपा गया था।

BSF ने बुधवार को अरेस्ट किए पाकिस्तानी मछुआरे

भूखा-प्यासा पाकिस्तान से भारत आया शख्स, BSF ने खिलाया भरपेट खाना, भेजा वापिस
भूखा-प्यासा पाकिस्तान से भारत आया शख्स, BSF ने खिलाया भरपेट खाना, भेजा वापिस

इससे पहले गुरुवार सुबह BSF ने गुजरात के कच्छ जिले के पास भारत-पाकिस्तान समुद्री सीमा से लगे हरामी नाला क्रीक इलाके में मछली पकड़ने वाली 9 पाकिस्तानी नौकाओं को भी जब्त किया था।

इसके बाद शुक्रवार को बीएसएफ ने एक बार फिर से 6 पाकिस्तानी मछुआरों को गिरफ्तार किया। BSF ने भारतीय जल क्षेत्र से 11 पाकिस्तानी नौकाओं को पकड़ा था। लेकिन उनमें सवार मछुआरे वहां से भाग निकले और दलदली क्षेत्र में छुपने में सफल रहे थे।

Read More

Recent