Online se Dil tak

यूक्रेन के संकट को देखकर आनंद महिंद्रा ने लिया बड़ा फैसला, अब MBBS की डिग्री के लिए नहीं जाना पड़ेगा विदेश

जैसा की आप सभी को पता ही है कि यूक्रेन और रशिया के बीच युद्ध छिड़ा हुआ है।  इसमें भारत के सामने जो सबसे बड़ा संकट खड़ा हुआ है, वह यह है कि वहां मेडिकल की पढ़ाई कर रहे स्टूडेंट्स को सुरक्षित कैसे लाया जाए।  इस संकट के बीच भारत के लोगों के मन में एक सवाल पैदा हुआ कि आखिर इतनी बड़ी संख्या में यह स्टूडेंट भारत के बाहर क्यों जाते हैं?  उद्योगपति आनंद महिंद्रा ने यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों विशेषकर मेडिकल स्टूडेंट्स की हालत देखकर एक बड़ा काम करने का फैसला लिया है।

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर बताया कि उन्हें नहीं पता था कि भारत में मेडिकल कॉलेज की इतनी ज्यादा कमी है। उन्होंने अपनी कंपनी टेक महिंद्रा के एमडी और सीईओ सीपी गुरनानी को टैग करते हुए लिखा है कि  ‘क्या हम महिंद्रा यूनिवर्सिटी में मेडिकल की पढ़ाई करवाने वाले संस्थान की स्थापना करने के बारे में विचार कर सकते हैं?‘

यूक्रेन के संकट को देखकर आनंद महिंद्रा ने लिया बड़ा फैसला, अब MBBS की डिग्री के लिए नहीं जाना पड़ेगा विदेश
यूक्रेन के संकट को देखकर आनंद महिंद्रा ने लिया बड़ा फैसला, अब MBBS की डिग्री के लिए नहीं जाना पड़ेगा विदेश

उनके इस ट्वीट पर कई यूजर्स ने उन्हें जवाब देकर बताया कि भारत से बड़ी संख्या में बच्चे मेडिकल की पढ़ाई करने यूक्रेन सिर्फ सीटों की कमी की वजह से नहीं बल्कि भारत के निजी मेडिकल कॉलेजों में पढ़ाई बहुत महंगी है। यह भी वहां जाने का बहुत बड़ा कारण है।

इसे लेकर पी. वामशिधर रेड्डी नाम के एक यूजर ने आनंद. महिंद्रा से अनुरोध किया कि आप अपने संस्थान में ध्यान रखिएगा कि इसकी फीस अन्य संस्थानों की तरह करोड़ों में ना हो, इस पर आनंद महिंद्रा ने कहा कि वो ‘ध्यान रखेंगे।’

यूक्रेन के संकट को देखकर आनंद महिंद्रा ने लिया बड़ा फैसला, अब MBBS की डिग्री के लिए नहीं जाना पड़ेगा विदेश
यूक्रेन के संकट को देखकर आनंद महिंद्रा ने लिया बड़ा फैसला, अब MBBS की डिग्री के लिए नहीं जाना पड़ेगा विदेश

आनंद महिंद्रा ने अपने ट्वीट के साथ एक और खबर बताई है कि उनके हिसाब से भारत के करीब 18000 बच्चे यूक्रेन से मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं और सबसे ज्यादा 23000 बच्चे चीन से मेडिकल की डिग्री लेने गए हुए हैं।

यूक्रेन के संकट को देखकर आनंद महिंद्रा ने लिया बड़ा फैसला, अब MBBS की डिग्री के लिए नहीं जाना पड़ेगा विदेश
यूक्रेन के संकट को देखकर आनंद महिंद्रा ने लिया बड़ा फैसला, अब MBBS की डिग्री के लिए नहीं जाना पड़ेगा विदेश

आनंद महिंद्रा ट्विटर पर पहले भी कई बार अपने ड्रीम प्रोजेक्ट के बारे में बताते रहे हैं। साथ ही वह हर मुद्दे पर खुलकर बात करना पसंद करते हैं। उनके बराबर सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने और आम लोगों से भी राय लेने से लोगों के मन में यह भावना बनने लगी है कि वह ऐसे उद्योगपति हैं जो भारतीय समाज के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं।

Read More

Recent