Online se Dil tak

योगी सरकार ने 2.0 में आते ही शुरू किया सफाई अभियान, किया पहला एनकाउंटर

फिल्में तो हम सभी देखते है और अक्सर हमने देखा होगा कि उनमें बड़े बड़े नामी गुंडे, डकैत और डॉन होते हैं।  जिन पर सरकार बड़े-बड़े इनाम रखती है। कभी वह पुलिस की पकड़ में आ जाते हैं,  तो कभी देखा जाता है कि यह पुलिस की गिरफ्त से भाग जाते हैं। इसी भागदौड़ में पुलिस उनका एनकाउंटर कर देती है। आज हम आपको ऐसे ही एक मामले के बारे में बताने वाले हैं, जिसमें पुलिस मुठभेड़ में एक नामी डकैत को गोली लग गई। जिस पर ₹25000 इनाम रखा गया था। क्या है पूरी खबर आइए जानते हैं।

बता दें, जिस मामले की हम बात कर रहे हैं वह लखनऊ से है।  यहां पर गुडंबा इलाके के भाखामऊ गांव में ₹25000 के इनामी डकैत मोनू पंडित से शुक्रवार रात पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम की मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के समय पुलिस की जवाबी फायरिंग में पैर में गोली लगने से डकैत घायल हो गया।

योगी सरकार ने 2.0 में आते ही शुरू किया सफाई अभियान, किया पहला एनकाउंटर
योगी सरकार ने 2.0 में आते ही शुरू किया सफाई अभियान, किया पहला एनकाउंटर

कानून व्यवस्था से खिलवाड़ और भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस नीति पर काम करने वाली योगी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल केवी स्पष्ट संकेत मिलने लगे हैं। 10 मार्च को मतगणना के बाद बहुमत से योगी सरकार जीती है और 2.0 में पहला एनकाउंटर हो गया है। लखनऊ पुलिस ने मुठभेड़ के बाद डकैत को पकड़ लिया और उसके पैर पर गोली मारी।

आपको बता दें,  पुलिस को डकैत मोनू पंडित के पास से बाइक और तमंचा बरामद हुआ है। 1 साल पहले जानकीपुरम में अंजनी ज्वेलर्स में हुई डकैती के मामले में वंचित चल रहा था।  उसके खिलाफ औरैया, सीतापुर और उन्नाव में भी मुकदमे दर्ज हैं। डीसीपी उत्तरी ने इस डकैत पर 25000 के नाम की घोषणा की थी।

योगी सरकार ने 2.0 में आते ही शुरू किया सफाई अभियान, किया पहला एनकाउंटर
योगी सरकार ने 2.0 में आते ही शुरू किया सफाई अभियान, किया पहला एनकाउंटर

शुक्रवार रात इंस्पेक्टर गुडंबा सतीश चंद्र साहू और उत्तरी जो की क्राइम ब्रांच वाहन चेकिंग कर रही थी। इस बीच भाखामऊ गांव के पास बिना नंबर की बाइक से जा रहे युवक को पुलिस ने पकड़ा तो उसने रफ्तार बढ़ा ली।  पुलिस और क्राइम ब्रांच ने उसका पीछा किया और फायरिंग शुरू कर दी।

बचाव में पुलिस ने भी घेराबंदी कर फायरिंग की।  फायरिंग के दौरान उसके बाएं पैर में गोली लग गई और वह घायल हो गया और गिर पड़ा।  जब उसको देखा गया तो वह डकैत मोनू पंडित निकला। उसके पास से एक तमंचा और कारतूस बरामद किए गए। बाइक भी लूट ली गई।

योगी सरकार ने 2.0 में आते ही शुरू किया सफाई अभियान, किया पहला एनकाउंटर
योगी सरकार ने 2.0 में आते ही शुरू किया सफाई अभियान, किया पहला एनकाउंटर

एडीसीपी प्राची सिंह के अनुसार डकैत मोनू औरैया के अजीतमल के अनंतराम सोनाली का रहने वाला है। वह उन्नाव जनपद के अचलगंज इलाके में भी रहता था। मोनू ने बीते साल अप्रैल माह में चार साथियों के साथ जानकीपुरम सेक्टर जी निवासी अनुराग अवस्थी की कुर्सी रोड स्थित अंजनी ज्वैलर्स के नाम से संचालित दुकान में वारदात की थी।

बता दे, वह तीन साथियों के साथ अंगूठी लेने के बहाने दुकान में घुसा। इसके बाद तमंचा निकलकर वारदात की। इस बीच पड़ोस स्थित किराना दुकान का संचालक पीयूष बदमाशों से भिड़ गया था। इस पर मोून ने पीयूष को गोली मार दी थी। इसके बाद बैग में सोने-चांदी के जेवर लेकर भाग निकला था। बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया था।

योगी सरकार ने 2.0 में आते ही शुरू किया सफाई अभियान, किया पहला एनकाउंटर
योगी सरकार ने 2.0 में आते ही शुरू किया सफाई अभियान, किया पहला एनकाउंटर

फुटेज से की थी पहचान : पुलिस को घटनास्थल से कुछ दूरी पर एक सीसी कैमरे में बदमाशों की फुटेज मिल गई थी। बदमाश जब वारदात देने को अंदर घुसे थे तो नकाबपोश थे। कुछ देर पहले घटनास्थल से कुछ दूर पहले एक सीसी कैमरे में बदमाशों की खुली फोटो दिखी थी। इस पर पुलिस उनकी तलाश कर रही थी। इंस्पेक्टर ने बताया कि मोनू के खिलाफ उन्नाव, सीतापुर और औरैया में कई लूट समेत कई अन्य मुकदें हैं।

Read More

Recent