Online se Dil tak

मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी

आपको ज्ञात होगा नगर निगम फरीदाबाद में कई गांवो को सम्मिलित किया गया है उसके बाद पुनः वार्डबंदी का कार्य जारी, जिसको लेकर काफी चर्चाए चल रही है आज विधायक नीरज शर्मा ने उपायुक्त फरीदाबाद से मुलाकल कर अपनी आपत्तियां दर्ज करवाई जिसमें उनके द्धारा बताया गया की वार्डबंदी के लिए जो जनगणना की गई है वह बिलकुल ठीक नही हुई है।


शहर का विधायक होने के नाते कोई मुझसे ही पूछने ही नही आया और विधायक का कहना था की क्या जिस कम्पनी द्धारा सर्वे किया गया है उस कम्पनी को किस आधार पर सर्वे का काम दिया गया था, क्या उस कम्पनी ने पहले कोई जनगणना का सर्वे किया था। जनगणना पर लगभग 2 या 3 करोडरू खर्च किए गए लेकिन आज तक जनगणना का डाटा सर्वाजनिक नही किया गया ऐसा क्यों।

मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी
मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी



सलाहकर की नियुक्ति पर उठाए सवाल———– विधायक नीरज शर्मा ने उपायुक्त फरीदाबाद को कंहा की विजिलेंस विभाग की एफआईआर नं0 03 जोकि दिनांक 22.09.2019 को दर्ज की गई थी, उसमें सेवा निवृत्त सीनियर एस0टी0पी रवि सिगंला के उपर अभी भी जांच चल रही है और अपने ऐसे अधिकारी को वार्डबंदी के लिए सलाहकार नियुक्त कर दिया क्या पूरे हरियाणा में कोई और व्यक्ति नही मिला।


इसके अतिरिक्त जो वार्डबंदी की गई है उसमें निम्न त्रीटिंया है। नई वार्डबंदी में वार्ड-1 55 सैक्टर को दो भागो में बांट दिया गया हे जोकि सरासर गलत है, नियमानुसार एक वार्ड एक ही विधानसभा में रहना चाहिए। वार्ड- 1 राजीव कालोनी की सीमा गौरव हस्पताल तक है जोकि समयपुर गांव बेरागी चौक तक दिखाई गई है।

मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी
मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी



गौरव हस्पताल से 2 कि0मी की दूरी पर है। समयपुर गांव बेरागी चौक से एस0टी0पी0 को सीमाकिंत किया है बैरागी चौक से एस0टी0पी की दूरी 1 कि0मी से ज्यादा है। जबकि नक्शे के अनुसार सीआईए आफिस के साथ लगती सडक सीधी एसटीपी को लगती है जो गौछि गांव के रकबे मे से गुजरती है।

समयपुर गांव व उसका रकबा नगर निगम से बाहर है समयपुर गांव के रकबे में बसी हुई आबादी भी नगर निगम के दायरे से बाहर है, उसकी लगभग 5000 की जनसख्ंया इसमें सम्मिलित की गई है जब इसको बाहर निकलेंगे और दूसरे वार्ड में जोडगे तो आपके सभी वार्डो में बदलाव करना पडेंगा।

मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी
मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी



पवन हस्पताल एंव उसके आस पास की आबादी को नगर निगम में दिखाया गया है जोकि नगर निगम से बाहर है। बॅूथ नंम्बर 162 एंव 163 बल्लभगढ विधानसभा क्षेत्र के है उपरोक्त बूथो के लगभग 1200 वोट वार्ड-1 मंे जोड रखे है। वार्ड-3 मेे सैक्टर 55, गौछि, जीवन नगर भाग-2 एंव भाग 1 का हिस्सा जोड रखा हे जोकि गलत है क्योकि आधा हिस्सा सडक के दूसरी तरफ है।

वार्ड-5 की वेद रोड को तीन वार्डो में बंट दिया गया है और बाकि बचे एरिया में से आधा हिस्सा वार्ड-6 में जोड दिया गया है जोकि गलत है। वार्ड-7 में वोट है 15000 हजार और वार्ड-6 वोट है 35000 हजार लेकिन दोनो की जो आबादी दिखाई गई है।

मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी
मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी



वह 56000 हजार है यह कैसे हो सकता है। कुमाउ मदिंर पाकेट की तो जनगणना ही नही हुई तो फिर ऐसा कई जगह हुआ होगा। वार्ड-6 में सजंय इन्कलेव को जोडा गया है जबकि सजंय इन्कलेव वार्ड-7 में टच करता है ।


इसलिए सजंय इन्कलेव को वार्ड-6 से हटा कर वार्ड-7 में जोडा जांए। वार्ड-11 जवाहर कालोनी को तीन भागो में बाट दिया गया है जबकि जवाहर कालानी/सारन हमेशा से एक वार्ड रहा है। पूराना वार्ड-12 जोकि मेयर महोदय का वार्ड था उसकी आबादी वर्ष 2011 में लगभग 33000 थी और नई जनगणना के आधार पर 32000 दर्शाइ गई है यह कैसे उचित हो सकता है।

मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी
मिलिए हरियाणा के एक ऐसे विधायक से जो भ्रष्टाचार हटाने के लिए बने सन्यासी

Read More

Recent