Online se Dil tak

परीक्षा पर चर्चा : हरियाणा के सीएम के साथ विद्यार्थियों ने सुने पीएम मोदी के परीक्षा को लेकर सुझाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के परिक्षा पर चर्चा के लाइव वीप्रसारण कार्यक्रम को विभिन्न स्कूलों में देखा गया इस दौरान स्कूली बच्चों में भारी उत्साह दिखाई दिया,सुशांत लोक स्थित माडल संस्कृति स्कूल में इस अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल वहां विशेष रूप से पहुंचे और विद्यार्थियों के साथ लगभग एक घंटे का वक्त बिताया। इस दौरान सभी ने परीक्षा पर चर्चा का लाइव प्रसारण देखा। विद्यार्थियों ने मुख्यमंत्री से भी कई सवाल किए जिनका जवाब मुख्यमंत्री ने दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्टूडेंट्स को परीक्षा के दौरान तनाव से मुक्त रहने के गुरु मंत्र दिए तो वही किस तरह से परीक्षा को बेहतर तरीके से दिया जाए. इस पर भी स्टूडेंट्स का हौसला बढ़ाया. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रधानमंत्री मोदी की बात का उल्लेख करते हुए कहा कि परीक्षाओं में विद्यार्थियों को ज्यादा तनाव लेने की जरूरत नही है, फ्री माइंड से उन्हें परीक्षा देनी चाहिए।

परीक्षा पर चर्चा : हरियाणा के सीएम के साथ विद्यार्थियों ने सुने पीएम मोदी के परीक्षा को लेकर सुझाव
परीक्षा पर चर्चा : हरियाणा के सीएम के साथ विद्यार्थियों ने सुने पीएम मोदी के परीक्षा को लेकर सुझाव

प्रश्नपत्र के सभी प्रश्नों को एक साथ दिमाग में नही बैठाना चाहिए, बल्कि एक -एक करके प्रश्न पर विचार करें और उनके उत्तर देने चाहिए। इससे दिमाग पर जोर नही पड़ेगा और तनावमुक्त माहौल में अपनी परीक्षा दे पाएंगे



इस दौरान उस स्कूल की कक्षा आठवीं की छात्रा खुशबू ने मुख्यमंत्री से पूछा कि जब हम प्रश्न याद करते हैं तो हमें सभी उत्तर याद हो जाते हैं लेकिन परीक्षा में बैठने के बाद हम उन उत्तरों को भूल जाते हैं।

परीक्षा पर चर्चा : हरियाणा के सीएम के साथ विद्यार्थियों ने सुने पीएम मोदी के परीक्षा को लेकर सुझाव

खुशबू ने मुख्यमंत्री से इस बारे में मार्गदर्शन देने को कहा। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि वैसे तो वे आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और विद्यार्थियों का ‘परीक्षा पे चर्चा’ संवाद सुनने आए थे,

परीक्षा पर चर्चा : हरियाणा के सीएम के साथ विद्यार्थियों ने सुने पीएम मोदी के परीक्षा को लेकर सुझाव
परीक्षा पर चर्चा : हरियाणा के सीएम के साथ विद्यार्थियों ने सुने पीएम मोदी के परीक्षा को लेकर सुझाव

लेकिन चूंकि एक छात्रा ने सवाल किया है तो उसका जवाब भी देंगे।उन्होंने खुशबू के माध्यम से सभी विद्यार्थियों को समझाया कि प्रश्नपत्र के सभी प्रश्नों को एक साथ दिमाग में नही बैठाना चाहिए, बल्कि एक -एक करके प्रश्न पर विचार करें और उनके उत्तर देते जाएं। इससे दिमाग पर जोर नही पड़ेगा और वे तनावमुक्त माहौल में अपनी परीक्षा दे पाएंगे।

Read More

Recent