HomeUncategorizedपहले एक साथ 4 लड़को के साथ घर से भाग गई लड़की,...

पहले एक साथ 4 लड़को के साथ घर से भाग गई लड़की, फिर पर्ची डालकर चुना पति

Published on

सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म है जहां पर हमें बहुत सारी अजीबो-गरीब खबरें सुनने को मिलती है।  इनमें से कुछ खबरें तो ऐसे भी होती हैं जिनको सुनने के बाद हमारा सिर ही चकरा जाता है, कि आखिर ऐसा कोई कैसे कर सकता है? ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर से सामने आया है,  जो कि बहुत ही ज्यादा अजीबोगरीब है। इस घटना को सुनने के बाद आपको हैरानी के साथ साथ बहुत मजा भी आएगा। आइए जानते हैं क्या है वह घटना।

आपको बता दें, उत्तर प्रदेश में एक लड़की शादी करने के लिए एक साथ चार लड़कों के साथ घर से भाग गई। लेकिन बाद में वह खुद उलझन में पड़ गए कि उन लड़कों में से वह किस से शादी करें।  इस कन्फ्यूजन के बाद उसने बड़े ही अनोखे तरीके से अपने पति को चुना।

पहले एक साथ 4 लड़को के साथ घर से भाग गई लड़की, फिर पर्ची डालकर चुना पति

आपको बता दें,  पांच दिनों पहले लड़की चार लड़कों के साथ घर से भाग गई। दो दिनों तक लड़कों ने उसे अपनी रिश्तेदारी में छुपाए रखा,  लेकिन उसके बाद वह सभी पकड़े गए  लड़की के परिजनों ने लड़कों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी की। इसी बीच मामला पंचायत में पहुंचा।  पंचायत ने घर से भागी लड़की की शादी करने का प्रस्ताव रख दिया।

जब लड़की से पूछा गया कि वह 4 लडको में से किस को अपना पति बनाना चाहती है, तो वह तय नहीं कर पाई। वह कभी एक लड़के को देखती,  तो कभी दूसरे को।  लेकिन वह बहुत ही ज्यादा कंफ्यूज हो गई थी कि वह आखिर अब किस से शादी करें।

पहले एक साथ 4 लड़को के साथ घर से भाग गई लड़की, फिर पर्ची डालकर चुना पति

इसके बाद पंचों ने 4 लड़कों से पूछा कि उनमें से कौन इस लड़की से शादी करना चाहता है।  मामले में मोड तो तब आया जब लड़की को भगाने वाले चारों युवकों में से कोई भी उससे शादी करने के लिए तैयार नहीं था।

जब समस्या का कोई हल नहीं निकला तो पंच 3 दिन तक बंद कमरे में इस बारे में बात करते रहे कि, आखिर अब इसका क्या किया जाए। काफी सोचने के बाद पंचायत में लड़की से शादी कौन करेगा इसका फैसला पर्ची डालकर किया जाएगा।

पहले एक साथ 4 लड़को के साथ घर से भाग गई लड़की, फिर पर्ची डालकर चुना पति

इसके बाद चारों युवकों के नाम की पर्ची डाली गई और जो नाम निकला उसी पर समझौता हो गया। पंचायत के दौरान चारों युवकों के नाम पर्ची पर लिखने के बाद उसे कटोरी में रख दिया गया। इस दौरान पंचों ने एक छोटे बच्चे से एक पर्ची को उठाने को कहा। बच्चे के पर्ची उठाते ही तीन दिन से चल रहा विवाद सुलझ गया और युवती की शादी उसी युवक के साथ तय हो गई जिसका नाम पर्ची में निकला था।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...