HomeGovernmentहरियाणा सरकार करेगी, पौधों की होम डिलीवरी, जानिये कैसे मंगवा सकेंगे

हरियाणा सरकार करेगी, पौधों की होम डिलीवरी, जानिये कैसे मंगवा सकेंगे

Published on

प्रदेश की बात हो या देश की कोरोना का केहर थमने का नाम नहीं ले रहा है | महामारी का ग्राफ हरियाणा में तेज़ी से फ़ैल रहा है | इसका असर वन विभाग के महोत्सव पर पड़ा है। अबकी बार बड़े स्तर पर कोई आयोजन नहीं होगा।

प्रदेशभर में जुलाई-अगस्त में करीब 1.25 करोड़ पौधे राेपित किए जाएंगे। अब तक वन विभाग मानसून के सक्रिय होने की बाट जोह रहा था। प्रदेश में अब मानसून आगया है, इस कारण वन विभाग ने योजना बनाई है कि प्रदेश के 1100 गांवों में पौधों की होम डिलीवरी कराई जाएगी। यह होम डिलीवरी स्कूली बच्चों के घर होगी।

हरियाणा सरकार करेगी, पौधों की होम डिलीवरी, जानिये कैसे मंगवा सकेंगे

स्कूली विद्यार्थी पौधें रोपने के लिए बहुत विख्यात होते हैं | इसके लिए विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों की डयूटी निर्धारित की जा रही है। ताकि पौधों को सही हाथों में पहुंचाया जा सके। अबकी बार स्कूली विद्यार्थी घरों में ही हैं, इस कारण पौधों को वे न केवल रोपित करेंगे, बल्कि उनका अच्छे से सिंचाई आदि कर ध्यान भी रख सकेंगे।

हरियाणा वन विभाग ने कोरोना को भुनाने के लिए यह योजना तैयार की है। विभाग की पीसीसीएफ के अनुसार 31 अगस्त तक पौधरोपण का लक्ष्य पूरा किया जाएगा। वन मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने बताया कि अबकी बार प्रदेश में करीब सवा करोड़ पौधे लगाए जाने का लक्ष्य है।

हरियाणा सरकार करेगी, पौधों की होम डिलीवरी, जानिये कैसे मंगवा सकेंगे

अखबारों में रोज़ाना बताया जाता है कि बहुत से ऐसे पौधे हैं जिनको हम अनदेखा कर देते हैं | लेकिन वह पौधे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बहुत मदद करते हैं | प्रदेश में पौधरोपण करने का कोरोना एक बड़ी वजह है और मानसून भी पूरी तरह से सक्रिय होने में समय लगा है

हरियाणा सरकार करेगी, पौधों की होम डिलीवरी, जानिये कैसे मंगवा सकेंगे

इस बार 1100 गांवों में विद्यार्थिओं को पौधे दिए जाएंगे, ताकि वे इनकी रोपाई कर सकें और ठीक से पालन पोषण भी कर सकें। राज्य में वन क्षेत्र को बढ़ावा दिया जाएगा। महामारी के कारण स्कूल बंद हैं, लेकिन वन विभाग गांव-गांव में विद्यार्थियों की लिस्ट ले रहा है।

हरियाणा सरकार कोरोना को लेकर काफी गंभीर है यही कारण रहा कि अबकी बार नर्सरीज में जो पौधे तैयार किए गए हैं, उनमें करीब 20 फीसदी मेडिसन प्लांट हैं। इनकी संख्या लगभग 25 लाख है। यह मेडिसन प्लांट भी गांव-गांव बांटे जाएंगे। ताकि कोरोना जैसी महामारी दोबारा आए तो इन पौधों से आमजन की इम्युनिटी बढ़ाई जा सके। वन विभाग की ओर से पहले ही 1100 गांवों का चयन किया गया है, जहां कोविड वाटिका बनाई जानी है।

Written By – Om Sethi

Latest articles

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

Haryana के इस शख्स ने किया Bollywood के सुपरस्टार ऋतिक रोशन के साथ काम, इससे पहले भी कर चुके है कई फिल्मों में काम

प्रदेश के युवा या बुजुर्ग सिर्फ़ खेल या शिक्षा के मैदान में ही तरक्की...

More like this

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...