HomeCrimeलाईट जाने पर लगा जोर दार झटका हुई युवक कि मौत ,जाने...

लाईट जाने पर लगा जोर दार झटका हुई युवक कि मौत ,जाने कैसे ?

Published on

फरीदाबाद : शहर की जानी मानी कॉलोनी डबुआ कॉलोनी से आए दिन घटनाएं सामने आती जा रहे हैं। बीती रात एक और घटना सामने आई जिसमें विशाल नाम के युवक की जान चली गई।

क्या है पूरा मामला ?

लाईट जाने पर लगा जोर दार झटका हुई युवक कि मौत ,जाने कैसे ?

युवक का नाम विशाल था और रात के वक्त पूरे दिन काम करने के बाद घर पहुंचा। घर पहुंचते ही युवक ने देखा कि उसके घर बिजली नहीं है और इनवर्टर से भी लाइट नहीं चल रही।

अंधेरे का समय था युवक ने इनवर्टर के कुछ तारों से छेड़छाड़ करें और अचानक ही इनवर्टर को ठीक करने के चक्कर में युवक को जोरदार बिजली का झटका लगा।

मौजूदा लोगों ने मामले की गंभीरता को समझते हुए युवक को देरी ना करते हुए तुरंत निजी अस्पताल ले पहुंचे लेकिन बिजली का झटका इतना जोरदार था कि युवक की मौत हो गई ।

युवक का शव बीके अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए दिया गया जहां से इस मामले की जानकारी मिली कि युवक की मृत्यु जोरदार बिजली के झटके की वजह से हुई है।

लाईट जाने पर लगा जोर दार झटका हुई युवक कि मौत ,जाने कैसे ?

अब सावन के दिन शुरू हो चुके हैं यानी कि हर तरफ ठंडा मौसम और बरसात देखने को मिलेगी लेकिन बरसात के कारण बिजली से होने वाली घटनाओं में भी इजाफा होता है मगर आपको इस बात की सावधानी रखनी होगी कि बरसात के समय घर में किसी भी प्रकार की बिजली से जुड़ी चीजों को हाथ लगाने से पहले सावधानी बरतें और हो सके तो जितना हो सके तो ऐसे उपकरणों से थोड़ी दूरी बनाए रखें यदि कोई घर का बिजली का सामान जैसे पंखा कूलर एसी इनवर्टर इत्यादि खराब हो तो उसे खुद ठीक करने की कोशिश ना करें।

सावन के महीने की इस बरसात का सावधानी बरतते हुए आनंद ले और अपने घर के सदस्यों को भी यह सिखाएं कि किसी भी प्रकार की बिजली उपकरण को बरसात के समय छेड़छाड़ ना करें।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...