Online se Dil tak

फरीदाबाद पुलिस का 16 वर्षो का इंतजार हुआ खत्म, शातिर हत्यारा आया पुलिस की गिरफ्त में

डीसीपी क्राइम नरेंद्र कादयान के दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 14 पीओ स्टाफ प्रभारी जगबीर सिंह की टीम ने 16 वर्षों से हत्या के मुकदमे में फरार चल रहे 5000 के ईनामी बदमाश को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

फरीदाबाद पुलिस का 16 वर्षो का इंतजार हुआ खत्म, शातिर हत्यारा आया पुलिस की गिरफ्त में
फरीदाबाद पुलिस का 16 वर्षो का इंतजार हुआ खत्म, शातिर हत्यारा आया पुलिस की गिरफ्त में



पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम पप्पू उर्फ गुलाब है जो उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के कमालपुर गांव का रहने वाला है। आरोपी के खिलाफ वर्ष 2000 में हत्या की धाराओं के तहत पुलिस थाना सिटी बल्लभगढ़ में मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें आरोपी ने अपने पांच अन्य साथियों के साथ मिलकर एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी।

फरीदाबाद पुलिस का 16 वर्षो का इंतजार हुआ खत्म, शातिर हत्यारा आया पुलिस की गिरफ्त में
फरीदाबाद पुलिस का 16 वर्षो का इंतजार हुआ खत्म, शातिर हत्यारा आया पुलिस की गिरफ्त में

इस मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया था। इस मामले में माननीय न्यायालय ने आरोपी को 20 वर्ष की सजा सुनाई थी। 6 साल की सजा काटने के पश्चात वर्ष 2006 में हाईकोर्ट से आरोपी को जमानत मिल गई और जमानत मिलने के पश्चात आरोपी ने हाईकोर्ट में सजा माफी की अपील की जिसे माननीय उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया।

फरीदाबाद पुलिस का 16 वर्षो का इंतजार हुआ खत्म, शातिर हत्यारा आया पुलिस की गिरफ्त में
फरीदाबाद पुलिस का 16 वर्षो का इंतजार हुआ खत्म, शातिर हत्यारा आया पुलिस की गिरफ्त में

आरोपी की अर्जी खारिज होने के पश्चात हाई कोर्ट द्वारा आरोपी को जेल जाने के आदेश दिए थे परंतु आरोपी वापिस जेल न जाकर फरार हो गया था। आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए जगह बदल बदल कर रहने लगा। पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी के लिए कई जगह रेड डाली परंतु आरोपी हर बार बचता रहा।

फरीदाबाद पुलिस का 16 वर्षो का इंतजार हुआ खत्म, शातिर हत्यारा आया पुलिस की गिरफ्त में
फरीदाबाद पुलिस का 16 वर्षो का इंतजार हुआ खत्म, शातिर हत्यारा आया पुलिस की गिरफ्त में

2 महीने पहले पुलिस महानिदेशक कार्यालय द्वारा आरोपी के खिलाफ ₹5000 का इनाम घोषित किया गया था। इस मामले में डीसीपी क्राइम के दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए अंततः क्राइम ब्रांच पीओ स्टाफ द्वारा इस मामले में कड़ी मशक्कत करते हुए गुप्त सूत्रों व तकनीकी की सहायता से आरोपी को उत्तर प्रदेश के गढ़गंगा नामक स्थान से धर दबोचा। आरोपी को काबू करके फरीदाबाद लाया गया जहां उसे अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।

Read More

Recent