Online se Dil tak

कोरोना की वैक्सीन बना रही वैज्ञानिक गगनदीप कांग ने फरीदाबाद के THSTI को कहा अलविदा

मशहूर भारतीय मेडिकल साइंटिस्ट गगनदीप कांग जो वर्तमान में कोरोनावायरस वैक्सीन के निर्माण कार्य में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे कुछ वैज्ञानिकों में से एक थी उन्होंने फरीदाबाद स्थित ट्रांसलेटेड हेल्थ साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट ( THSTI ) के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर के पद से इस्तीफा दे दिया है।

जिस पद से गगनदीप कांग ने इस्तीफा दिया है वह पद भारत सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के बायो टेक्नोलॉजी विभाग के अंतर्गत आता है। यह संस्थान फरीदाबाद में मौजूद पब्लिक हेल्थ रिसर्च इंस्टीट्यूट है जहां पर वैज्ञानिक गगनदीप कान के नेतृत्व में लंबे समय से कोरोनावायरस वैक्सीन के निर्माण को लेकर कार्य चल रहा था।

कोरोना की वैक्सीन बना रही वैज्ञानिक गगनदीप कांग ने फरीदाबाद के THSTI को कहा अलविदा
कोरोना की वैक्सीन बना रही वैज्ञानिक गगनदीप कांग ने फरीदाबाद के THSTI को कहा अलविदा

गगनदीप कांग द्वारा सोमवार 6 जुलाई को कुछ निजी कारणों का हवाला देते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया गया। बता दे कि भारतीय वैज्ञानिक कांग को कई अंतरराष्ट्रीय रिसर्च के लिए भी जाना जाता है उन्होंने भारत में बच्चों में संक्रमण के संचार, विकास व रोकथाम को लेकर कई अहम कार्य किए हैं।

गगनदीप कांग वैश्विक कंसोर्टियम कॉलिशन फॉर एपिडेमिक प्रिपेयर्डनेस से भी जुड़ी हैं यह संस्थान भी कोरोना वायरस की वैक्सीन के निर्माण कार्य पर काफी लंबे समय से जोर दे रहा है और गगनदीप कांग भी इस में अपनी अहम भूमिका निभा रही थी।

कोरोना की वैक्सीन बना रही वैज्ञानिक गगनदीप कांग ने फरीदाबाद के THSTI को कहा अलविदा
कोरोना की वैक्सीन बना रही वैज्ञानिक गगनदीप कांग ने फरीदाबाद के THSTI को कहा अलविदा

गगनदीप कांग लंदन की रॉयल सोसाईडी फैलो रहने वाली पहली पहली भारतीय महिला भी रही है। महिला सांइटिस्ट गगनदीप कांग का इस्तीफा उस वक्त हुआ है जब उनके द्वारा बनाई जा रही वैक्सीन को जांच समिति ने बंद कर दिया था। डॉ. कांग ने सोमवार को इस्तीफा देते वक्त कहा कि वे इस्तीफा कुछ निजी कारणों के चलते दे रही हैं।

कोरोना की वैक्सीन बना रही वैज्ञानिक गगनदीप कांग ने फरीदाबाद के THSTI को कहा अलविदा
कोरोना की वैक्सीन बना रही वैज्ञानिक गगनदीप कांग ने फरीदाबाद के THSTI को कहा अलविदा

क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज वेल्लोर में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल साइंसेज विभाग में प्रोफेसर रही कांग 2016 से THSTI में काम कर रही थीं। फिलहाल THSTI में उनका अभी एक साल का कार्यकाल और बाकी था। बीते महीनों में ही कांग कोरोनावायरस के इलाज के लिए बनाई जा रही वैक्सीन के निर्माण कार्य से जुड़ी थीं। उससे पहले ही उनके द्वारा अपने पद से इस्तीफा दे दिया गया।

Read More

Recent