Pehchan Faridabad
Know Your City

फरीदाबाद में छुपा था यूपी का मोस्ट वांटेड विकास दुबे क्राइम ब्रांच ने दबोचे 2 आरोपी और 4 पिस्टल ।

कानपुर के कुख्यात बदमाश विकास दुबे के मुख्य साथी सहित दो अन्य आरोपियों को फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने दबोचा।

विकास दुबे के सहयोगी आरोपी कार्तिकेय ने पुलिस से घिरा देख पुलिस पर फायरिंग की,क्राइम ब्रांच ने चारों तरफ से घेर कर दबोचा। मुख्य आरोपी  कार्तिकेय उर्फ प्रभात से  4 पिस्टल  और 44 जिंदा राउंड बरामद किए।

दिनांक 7 जुलाई को क्राइम ब्रांच फरीदाबाद को गुप्त सूचना मिली कि उत्तर प्रदेश के कुख्यात बदमाश विकास दुबे के कुछ सहयोगी आरोपी हथियार सहित न्यू इंदिरा नगर कंपलेक्स हरि नगर नहर पार एरिया में छुपे हुए है। सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को भेजी गई।*

श्रीमान ओपी सिंह पुलिस आयुक्त महोदय ने डीसीपी क्राइम मकसूद अहमद को आरोपियों की धरपकड़ के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए*

डीसीपी क्राइम श्री मकसूद अहमद  की देखरेख में एसीपी क्राइम अनिल यादव ने  क्राइम ब्रांच 48, क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव और क्राइम ब्रांच बीपीटीपी की तीन टीमों के साथ सूचना के आधार पर नहर पार एरिया में रेड की।*

रेड के दौरान एक घर मे छुपे हुए बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर भागने की कोशिश की लेकिन क्राइम ब्रांच की टीम की घेराबंदी और सतर्कता के चलते आरोपियों को मौके पर ही धर दबोचा*।

गिरफ्तार आरोपी

1. कार्तिकेय @प्रभात पुत्र राजेन्द्र निवासी गाँव बिखरू थाना चौवेपुर जिला कानपुर

2. अंकुर पुत्र श्रवण निवासी गाँव काकुपुर थाना शिवपुर पुर जिला कानपुर हाल न्यू इंदिरा कम्पलैक्श हरीनगर सै 87 नहर पार फरीदाबाद

3. श्रवण पुत्र खेरेशवर निवासी गाँव काकुपुर थाना शिवराजपुर जिला कानपुर हाल न्यू इंदिरा कम्पलैक्श सै 87 नहर पार फरीदाबाद।

डीसीपी क्राइम श्री  मकसूद अहमद ने बताया कि उपरोक्त आरोपियों के खिलाफ पुलिस टीम पर फायरिंग करने व अवैध हथियार रखने सहित आईपीसी  की  संबंधित धाराओं  के अंतर्गत थाना खेड़ी पुल में मुकदमा दर्ज किया गया।उत्तर प्रदेश के बदमाश प्रभात को आरोपी अंकुर और उसके पिता श्रवण ने अपने घर में पनाह दी थी।

पूछताछ पर बदमाश प्रभात ने बताया कि उसने और  कुख्यात बदमाश विकास दुबे ने, विकास  की भाभी की मौसी शांति मिश्रा के घर नहरपार, हरी नगर इंदिरा कंपलेक्स मे पनाह ली थी। विकास दुबे पुलिस पार्टी के आने से कुछ घंटे पहले फरार हो गया था।बदमाश प्रभात ने पूछताछ पर बताया कि वह , विकास दुबे के साथ बिखरू गांव में हुए हत्याकांड में पुलिस पार्टी पर फायर करने में शामिल था।

आरोपी प्रभात उर्फ कार्तिकेय ने बताया कि विकास दुबे और उसने पुलिस पार्टी पर हमला करके घायल पुलिस वालों की दो पिस्टल और जिंदा राउंड छीनकर मौके से फरार हो गए थे।फरार होने के बाद 2 दिन बाद दो दिन तक दोस्त के घर शिवली यूपी में रहे थे।बदमाश प्रभात ने  पूछताछ में बताया कि  पुलिस पार्टी पर हमला करने वाले अन्य मुख्य आरोपी अमर दुबे  जो अभी हमीरपुर यूपी में  मौजूदगी बारे बताया।

उन्होंने बताया कि आरोपियों को अदालत में पेश कर आरोपी अंकुर अन्य आरोपी श्रवण, जो कि दोनों पिता-पुत्र हैं को बदमाशों को आश्रय देने के आरोप में जेल भेज दिया है।विकास दुबे के मुख्य सहयोगी आरोपी कार्तिकेय को माननीय अदालत द्वारा यूपी पुलिस की मांग पर ट्रांजिट रिमांड पर यूपी एसटीएफ के हवाले किया गया है।डीसीपी क्राइम ने बताया कि आरोपी के कब्जे से यूपी पुलिसकर्मियों से छिनी हुई 2 पिस्टल 9mm और 2 देसी पिस्टल 9mm सहित 44 जिन्दा रोंद व एक खाली खोल, एक पिठू बैग व 3000/- रुपये बरामद हुए हैं।*
पुलिस प्रवक्ता,

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More