HomeCrimeरिश्तेदार कहते थे बेरोजगार, गुस्से में तीन लोगों को छुरा मार कर...

रिश्तेदार कहते थे बेरोजगार, गुस्से में तीन लोगों को छुरा मार कर हत्या कर दी

Published on

आज के समय में बेरोजगारी बढ़ती ही जा रही है। ऐसे में एक 21 साल के युवक ने नाराजगी में एक ऐसा कदम उठाया जिसे देख हर कोई हैरान रह गया। किसी ने भी उससे ऐसे उम्मीद नहीं की थी और आज वह जेल में है। बता दें कि नासिक का रहने वाला 21 साल के सचिन गणपत ने अपने तीन रिश्तेदारों को जान से मार दिया। पुलिस के समाने अपना आरोप कबूलने के बाद उसने हत्या का कारण बताया और हत्या की वजह जानकर पुलिस भी हैरान हो गई।

पुलिस को दिए अपने बयान में सचिन ने कहा कि उसके रिश्तेदार आकार उसकी बेरोजगारी को लेकर हमेशा उसे ताना मारते थे। और जब बर्दाश्त की हद पार हो गई तो वह उन तीनों से इतना गुस्सा हो गया कि उसे यह कदम उठाना पड़ा।

रिश्तेदार कहते थे बेरोजगार, गुस्से में तीन लोगों को छुरा मार कर हत्या कर दी

बता दें कि घटना शनिवार सुबह की है। सुबह सचिन एक चाकू लेकर अपने रिश्तेदार के घर पहुंचा और हत्या को अंजाम दिया। मृतकों की पहचान हीराबाई शंकर चिमेट, मंगल गणेश चिमेट और उनके बेटे रोहित के रुप में हुई है।

रिश्तेदार कहते थे बेरोजगार, गुस्से में तीन लोगों को छुरा मार कर हत्या कर दी

परिवार के तीन सदस्यों की उसने चाकू घोंपकर निर्मम हत्या कर दी। सचिन ने मृतक रोहित के छोटे भाई यश पर भी हमला किया। छः साल का यश इस हमले में घायल हो गया और जैसे तैसे वहां से भागने में कामयाब रहा, जिसकी वजह से उसकी जान बच गई।

रिश्तेदार कहते थे बेरोजगार, गुस्से में तीन लोगों को छुरा मार कर हत्या कर दी

जैसे ही हमले की जानकारी लोगों को मिली तो आनन-फानन में सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन डॉक्टर्स ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। इस हमले में यश की गर्दन पर कई गंभीर चोटें आई हैं और उसका इलाज नासिक के सिविल अस्पताल में चल रहा है।

पुलिस ने बताया कि आरोपी सचिन ने हाईस्कूल की परीक्षा पास की है लेकिन उसकी जॉब नहीं लग पाई। ऐसे में रिश्ते में उसके भाई और भाई के परिवार वाले अक्सर उसकी बेरोजगारी को लेकर उसे ताना देते थे।

रिश्तेदार कहते थे बेरोजगार, गुस्से में तीन लोगों को छुरा मार कर हत्या कर दी

हालांकि पुलिस का कहना है कि पहले से ही दोनों परिवारों के बीच जमीन को लेकर विवाद भी चल रहा है। बहरहाल इस मामले में पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 (हत्या), 307 (हत्या की कोशिश) और धारा 326 के तहत केस दर्ज किया गया है।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...