HomeFaridabadनशे कि लत का शिकार होकर ओल्ड फरीदाबाद निवासी प्यारेलाल ने गंवाई...

नशे कि लत का शिकार होकर ओल्ड फरीदाबाद निवासी प्यारेलाल ने गंवाई जान

Published on

फरीदाबाद में बीते महीनों से लगातार कहीं ऐसे मामले देखने को मिल रहे हैं जिसमें नशे की लत का शिकार होकर युवा से लेकर बुजुर्ग व्यक्ति तक अपनी जान गवा रहे हैं। शहर में कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जिसमें नशे की लत में उलझ कर व्यक्ति या तो आत्महत्या कर रहा है या किसी हादसे का शिकार हो रहा है।

इसी कड़ी में एक नाम ओल्ड फरीदाबाद की भीम बस्ती के रहने वाले प्यारेलाल का भी शामिल हो गया है जो शराब की बुरी लत का शिकार था और रोजाना बेहिसाब शराब पिया करता था। लेकिन जब प्यारेलाल 6 जुलाई को शराब में धुत होकर घर से बाहर निकला तो वापस नहीं लौटा।

नशे कि लत का शिकार होकर ओल्ड फरीदाबाद निवासी प्यारेलाल ने गंवाई जान

7 जुलाई को खबर सामने आई कि प्यारेलाल नशे की हालत में धुत होकर खेड़ी पुल के पास नहर में गिर गया था और तैरना ना आने की वजह से प्यारेलाल की नहर में डूबने के कारण मौत हो गई। खबर सामने आने के बाद 7 जुलाई की सुबह पुलिस को इस बात की सूचना मिली।

मौके पर पहुंची पुलिस ने प्यारेलाल के शव को नहर से बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिए बादशाह खान सिविल अस्पताल में भेज दिया पुलिस प्यारेलाल के घरवालों एवं अन्य लोगों से जांच पड़ताल कर यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या प्यारेलाल ने आत्महत्या की थी या वह किसी हादसे के कारण नहर में जा गिरा था।

नशे कि लत का शिकार होकर ओल्ड फरीदाबाद निवासी प्यारेलाल ने गंवाई जान

प्यारे लाल के आस-पड़ोस के लोगों को कहना है कि प्यारेलाल 72 वर्षीय बुजुर्ग व्यक्ति था जो रोजाना नशे करने की लत का शिकार था और कोई कामकाज नहीं करता था। वह रोजाना की तरह ही 6 जुलाई की रात को शराब पीकर घर से निकला था लेकिन वापस नहीं लौटा।

नशे कि लत का शिकार होकर ओल्ड फरीदाबाद निवासी प्यारेलाल ने गंवाई जान

नशे की लत का शिकार होकर फरीदाबाद में मरने वाले लोगों का यह कोई पहला मामला नहीं है बीते महीनों में कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जिसमें नशे का शिकार कई युवा फांसी लगाकर आत्महत्या कर चुके हैं और कई व्यक्ति प्यारेलाल की ही भांति अन्य हादसों का शिकार हो चुके हैं।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...