Pehchan Faridabad
Know Your City

हरियाणा में सुधरे महिलाओं के हालात- दुष्कर्म, उत्पीड़न, अपहरण, छेडछाड़ में आई 20.46 प्रतिशत गिरावट

फरीदाबाद: वर्ष 2018 वर्ष 2019 में महिलाओं के साथ दुष्कर्म उत्पीड़न अपहरण और छेड़छाड़ जैसे मामलों में इजाफा हुआ था। यह खुद हरियाणा राज्य अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े कह रहे हैं। तमाम दावों और सुरक्षा इंतजामों के बावजूद भी महिलाओं और बच्चों के प्रति होने वाले अपराधों को कम करने में विफल रही है।

लेकिन इस वर्ष 2020 के प्रथम 6 महीनों में महिलाओं के प्रति होने वाले विभिन्न अपराधों की अवधि में कमी देखने को मिली है। यह अपराध 20.46% की दर से घट गए हैं।इस बात की पुष्टि हरियाणा अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो और यहां के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) मनोज यादव ने की।

हरियाणा क्राइम रिकार्ड्स ब्यूरो की रिपोर्ट

हरियाणा क्राइम रिकार्ड्स ब्यूरो की एक ने रिपोर्ट के अनुसार इस दौरान बलात्कार के मामलों में 18.18 प्रतिशत और अपहरण की घटनाएं भी 27.41 प्रतिशत तक कम हुईं। पुलिस ने इस दौरान दुष्कर्म के करीब 99 प्रतिशत, अपहरण के 85.33 प्रतिशत तथा छेड़छाड़ के 96.63 प्रतिशत मामलों को सफलतापूर्वक सुलझा लिया।

प्रदेश के डीजीपी ने यह बताया कि इस वर्ष महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों की संख्या में 1259 केस की गिरावट आई है। पिछले वर्ष 2019 के पहले 6 महीनों में इन केसों की संख्या 6153 दर्ज की गई थी लेकिन इस वर्ष 2020 के प्रथम 6 महीनों में लगभग 4893 केस दर्ज किए गए हैं। यह प्रशासन और पुलिस कर्मचारियों के लिए एक उपलब्धि के समान है।

पेश है कुछ जरूरी आंकड़े

  1. इस वर्ष 30 जून तक बलात्कार के 657 मामले दर्ज किए गए, जबकि गत वर्ष इसी समय में यह आंकड़ा 18.18 प्रतिशत ज्यादा यानी 803 था।
  2. इस अवधि के दौरान, महिलाओं के अपहरण की घटनाओं में भी 27.41 की गिरावट देखने को मिली हैं। जहां वर्ष 2019 के शुरुआती छह महीनों में 1587 थे वही इस वर्ष 2020 के शुरुआती छह महीनों में महिलाओं के प्रति अपहरण के 1152 केस दर्ज किए गए।
  3. महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की वारदातें भी वर्ष 2019 के 1226 से घटकर 2020 में 1128 रह गईं। इस प्रकार छेड़छाड़ के मामले भी 8 प्रतिशत कम हुए।

इस प्रकार लॉकडाउन में हरियाणा में महिला अपराध पर शिकंजा कसने, महिलाओं से जुड़े मामलों की जांच में तेजी लाकर दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के पुख्ता प्रबंध की दिशा में पुलिस बल को एक अच्छी कामयाबी मिली है। यह अंदाजा भी लगाया जा रहा है कि आने वाले दिनों में इन अपराधों की संख्या में और भी कमी देखी जा सकती है। इस पर आपकी क्या राय है, कमेंट करके बताइए।

Written by -Vikas Singh

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More