HomeInternationalजानिए क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय न्याय दिवस

जानिए क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय न्याय दिवस

Published on

अंतरराष्ट्रीय न्याय दिवस को अंतरराष्ट्रीय आपराधिक न्याय दिवस के नाम से भी जाना जाता है। हर साल 17 जुलाई को पूरी दुनिया में अंतरराष्ट्रीय न्याय दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का मुख्य कारण है, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर न्याय की उभरती हुई प्रणाली को पहचानना।

अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय को रोम संविधि के रूप में भी जाना जाता है। साथ ही सभी देशों को रोम के इस कानून को अपनाने का अधिकार भी है। अभी तक 120 देश रोम में एक कानून को अपना चुके हैं।

जानिए क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय न्याय दिवस

अंतरराष्ट्रीय न्याय दिवस लोगों को न्याय के समर्थन के लिए जागरूक और एक जुट करने के लिए बनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य पीड़ितों को उनके अधिकारों के लिए बढ़ावा देना है।

साथ ही गंभीर मुद्दों पर ध्यान देने के लिए दुनिया भर के लोगों को एकजुट करने और आकर्षित करने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाता है। ये लोगों को कई गंभीर अपराधों से बचाने के लिए चेतावनी देता है। साथ ही जो लोग दुनिया में शांति और सुरक्षा को प्रभावित करते हैं उनके लिए ये एक बड़ी चेतावनी है।

अंतरराष्ट्रीय न्यायलय संयुक्त राष्ट्र का एक महत्वपूर्ण न्यायिक अंग है। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की स्थापना 1945 में हॉलैंड के शहर हेक में हुई थी। इसके बाद 1946 में इसने अपना काम शुरू कर दिया था। अंतरराषट्रीय न्यायालय के अनुसार इसका काम कानूनी विवादों का निपटारा करना है, साथ ही संयुक्त राष्ट्र के अंगों और विशेष एजेंसियों द्वारा उठाए कानूनी प्रश्नों पर राय देना है। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की आधिकारिक भाषा अंग्रेजी और फ्रेंच है।

जानिए क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय न्याय दिवस

भारत सरकार ने भी कुलभूषण जाधव मामले में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। भारत का अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का दरवाजा खटखटाने का मुख्य कारण पाकिस्तान द्वारा काउंसिल सेवा मुहैया कराने से इंकार करना था।

इतना ही नहीं पाकिस्तान सरकार ने कुलभूषण जाधव से जुड़े कानूनी दस्तावेजों की कॉपी देने से इंकार कर दिया था। साथ ही पाकिस्तान का कुलभूषण जाधव के परिवार को वीजा देने से इनकार कर दिया था। इसलिए भारत सरकार को कुलभूषण जाधव मामले में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का दरवाजा खटखटाना पड़ा।

Written by – Ansh Sharma

Latest articles

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

More like this

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...