HomeFaridabadग्रेटर फरीदाबाद की कई साइटों में हुआ जलभराव, सोसाइटी से निकलने का...

ग्रेटर फरीदाबाद की कई साइटों में हुआ जलभराव, सोसाइटी से निकलने का रास्ता हुआ बंद। मानसून में क्या होगा शहर का हाल?

Published on

फरीदाबाद की यही है कहानी की बारिश के खराब हर सड़क पर भर जाता है पानी, मानसून में हाई सोसाइटी में रहने वाले लोग जलभराव की समस्या से बहुत ही ज्यादा परेशान है। बिल्डर की करतूतों को कामयाब सोसाइटी के वासियों को भुगतना पड़ रहा है।

सोसायटी में रहने वाले लोगों का आरोप है कि बिल्डर ने सोसायटी के अंदर बारिश और सीवर के गंदे पानी की निकासी के लिए किसी भी तरह की कोई व्यवस्था नहीं की है और साथ ही बरसात के दिनों में सोसाइटी में बहुत बुरा हाल हो जाता है। बारिश के कारण सोसाइटी के बेसमेंट में लबालब पानी भर जाता है और इससे लोगों को कार पार्किंग के लिए तैरकर पहुंचना पड़ रहा है। लोग इसकी शिकायत बिल्डर, डीटीपी विभाग और नगर निगम के अधिकारी से कर चुके, लेकिन अभी तक इस समस्या का समाधान नहीं मिल रहा है।

ग्रेटर फरीदाबाद की कई साइटों में हुआ जलभराव, सोसाइटी से निकलने का रास्ता हुआ बंद। मानसून में क्या होगा शहर का हाल?

चार्मवुड सोसायटी के प्रधान महेंद्र गुप्ता का कहना है कि रोज गार्डन, ओमेक्स हाइट और एसआरएस रॉयल हिल्स सोसायटी के लोगों को सबसे अधिक जलभराव की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि यहां पर पानी के लिए बिल्डर की ओर से किसी भी तरह का पुख्ता इंतजाम नहीं किया गया है। लोगों का कहना है कि बारिश के समय इन हाई राय सोसायटी के बेसमेंट पर और पार्क में पानी तीन-चार दिन तक भरा रहता है जिसकी वजह से वाहन पार्किंग नहीं हो पाती है और सोसाइटी में पानी भरने से बिल्डिंग झज्जर हो गई है।

ग्रेटर फरीदाबाद की कई साइटों में हुआ जलभराव, सोसाइटी से निकलने का रास्ता हुआ बंद। मानसून में क्या होगा शहर का हाल?

वही फरीदाबाद की कुछ सोसायटी में रहने वाले लोगों के अंदर डर का माहौल बना हुआ है। इसके अलावा एसआरएस रॉयल हिल्स में पानी लीकेज की समस्या है और यहां पर काफी बार बिल्डर को अवगत कराया गया। लेकिन किसी भी तरह की कोई सुनवाई नहीं की गई। आलम यह है कि बेसमेंट की दीवारों में पानी के कारण सीलन आ चुकी है। 

ग्रेटर फरीदाबाद की कई साइटों में हुआ जलभराव, सोसाइटी से निकलने का रास्ता हुआ बंद। मानसून में क्या होगा शहर का हाल?

जिसके कारण बिल्डिंग झज्जर हो रही है। अधिकारी ने इस मामले को नजरअंदाज करें और ऐसे में लगातार सोसायटी के 3 हजार निवासियों को किसी भी घटना को लेकर मन मे भह हैं। इस संबंध में मीडिया पर्सन का कहना है कि हमने सोसायटी केआरडब्ल्यू को हैंड ओवर कर दी है और सारा मेंटेनेंस भी कर आएगा।

स्थानीय निवासी दयाशंकर का कहना है कि मंगलवार को देर शाम को ही बारिश के बाद एसआरएस रॉयल हिल्स में पानी भर गया। जिसकी वजह से सुबह लोगों को बेसमेंट में तैरकर कार पार्किंग से निकलनी पड़ी और इसकी वजह से हालत गंभीर है और बेसमेंट में पानी भर जाने के बाद बिल्डिंग झज्जर हो गई और बिल्डिंग के पिलर में दरारें आ गई है जिसकी वजह से सोसायटी के लोगों के मन में भय भरा हुआ है। डीटीपी विभाग के अधिकारी का दौरा किया तो उन्होंने आदेश दिया कि जल्द से जल्द सोसाइटी के लिए पानी निकासी का समाधान किया जाए। परंतु अभी तक किसी भी तरह की कोई भी कार्यवाही नहीं हुई और अब तक कोई भी काम नहीं हुआ है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...