HomeGovernmentहरियाणा के मुख्यमंत्री ने सीएम विंडो पोर्टल के बारे में अधिकारियों के...

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने सीएम विंडो पोर्टल के बारे में अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

Published on

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शुक्रवार को ऑनलाइन शिकायत पोर्टल के कार्यप्रणाली की अपने अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में सीएम विंडो, केंद्रीकृत जन शिकायत निवारण एव निगरानी प्रणाली और सोशल मीडिया शिकायत टैकल शामिल है।

इस बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ऑनलाइन शिकायत निवारण पोर्टल सीएम विंडो की सफलता से खुश दिखे,तथा उन्होंने लोगों की सुविधा के लिए इस पोर्टल को राज्य के अन्य जगहों पर भी लगाने का निर्देश दिया। ताकि जनता बिना किसी समस्या के अपने घर के नजदीक ही अपनी शिकायत दर्ज करा सके।

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने सीएम विंडो पोर्टल के बारे में अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

फिलहाल यह परियोजना राज्य के प्रत्येक उपमंडल स्थित 110 स्थानों पर कार्यरत है जो विभिन्न विभागों से संबंधित कार्य को 30 दिन की निश्चित समय अवधि में निपटाती है। मुख्यमंत्री ने 2014 में पहली बार राज्य में भाजपा की सरकार बनने पर जनता की समस्याओं को दूर करने के लिए केंद्रीकृत प्रणाली के रूप में सीएम विंडो की शुरुआत की थी। इस ऑनलाइन प्रणाली ने पिछले 6 साल में काफी अच्छी प्रगति की है,जिसके कारण इसके ऊपर लोगों का विश्वास भी बढ़ा है।

मुख्यमंत्री ने सीएम विंडो की कार्यप्रणाली को अधिक सशक्त और प्रभावी बनाने के लिए प्रतिष्ठित नागरिक (एमिनेंट सिटीजन) की प्रक्रिया को पुनर्गठन करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि प्रतिष्ठित नागरिकों को उन 70,000 वालंटियर में से चुनना चाहिए जिन्होंने कोरोना महामारी के दौरान राज्य सरकार द्वारा चालू किए गए पोर्टल पर खुद को सेवाएं देने के लिए पंजीकरण करवाया है।

श्री खट्टर ने यह भी कहा कि प्रख्यात नागरिको को जो इस स्थिति की समीक्षा करते हैं, तथा अपनी प्रतिक्रिया देते हैं, को उनको पहचान के लिए विशिष्ट आईडी (यूनिक आईडी) भी दिया जाना चाहिए। इस पोर्टल के दुरुपयोग को रोकने के लिए सीएम विंडो के विरुद्ध शिकायत करने का एकत्रित कॉलम बनाया जाना चाहिए।

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने सीएम विंडो पोर्टल के बारे में अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

सीएम विंडो में जोड़ा गया यह नया फीचर।

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री को अधिकारियों ने बताया कि संबंधित विभाग द्वारा की गई शिकायत पर होने वाली कार्रवाई पर नागरिकों से फीडबैक लेने के लिए, शिकायत करने वाले व्यक्ति को पंचकूला में स्थित सीएम विंडो कॉल सेंटर से कॉल किया जाता है,

लोगों को उनके समाधान की संतुष्टि के बारे में जानकारी दी जाती है।बैठक के दौरान मुख्यमंत्री को यह भी बताया गया कि सीएम विंडो में एक नया फीचर जोड़ा गया है जिसके कारण पिछले 5 महीनों में 4.95 करोड रुपए का सरकारी पैसा वसूला गया है। उन्हें यह भी बताया गया कि सीएम विंडो पर शिकायत की समीक्षा करने की प्रणाली पूरे देश में सबसे अच्छी है, तथा इस कार्यक्रम की भारत सरकार ने भी तारीफ की है।

बैठक में यह भी जानकारी दी गई कि केंद्रीयकृत जन शिकायत निवारण एवं निगरानी प्रणाली में पूरे देश में हरियाणा पहले स्थान पर रहा है। जिसको हाल ही में भारत सरकार के प्रशासनिक सुधार और जन शिकायत विभाग द्वारा सराहना मिली है। इस पर प्राप्त टोटल 1.1 लाख शिकायतों में से 82,000 शिकायतों का निपटारा किया गया, तथा कोरोना काल के दौरान इस ऑनलाइन शिकायत पोर्टल पर 4591 शिकायत मिली, जिसमें सिर्फ और 4,265 शिकायतों का निपटारा किया गया।

Written by – Ankit Kunwar

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...