HomeLife StyleHealthहरियाणा में गंभीर मरीजों की दर में वृद्धि, लेकिन मृत्यु दर हुआ...

हरियाणा में गंभीर मरीजों की दर में वृद्धि, लेकिन मृत्यु दर हुआ कम

Published on

हरियाणा में दिन-प्रतिदिन कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, लेकिन पिछले 1 महीनों से, हरियाणा में मृत्यु दर में कमी आई है।स्वास्थ्य विभाग के जानकारी के अनुसार, जून में 216 मौत थी, लेकिन जुलाई में 19 दिनों में केवल 123 मौतें ही दर्ज की गई है जो मृत्यु दर में कमी को दर्शाता है।

कोरोना वायरस से हरियाणा में पहली मौत 6 अप्रैल को हुई थी, जो 30 जून तक बढ़कर 236 हो गई।ताजा आंकड़ों के अनुसार, रविवार तक कोरोना वायरस से 344 लोगों की मौत हुई है, जिसमें से 251 पुरुष और 93 महिलाएं हैं, तथा हरियाणा में अभी 5885 कुल सक्रिय मामले हैं और मृत्यु दर 1% से कम है।

hands with latex gloves holding a globe with a face mask
Photo by Anna Shvets on Pexels.com

कोरोना वायरस के दस्तक देने के बाद जून के पहले हफ्ते में हरियाणा में 7 मौत हुई थी, दूसरे हफ्ते में 69 मौत हुई थी तीसरे में 80 जबकि चौथे में 75 मौत दर्ज की गई थी,लेकिन जुलाई में मृतकों की संख्या में कमी आने लगी।

पहले सप्ताह में 33 लोगों की मृत्यु हुई दूसरे सप्ताह में 25 और तीसरे सप्ताह 36 मौत दर्ज की गई है, जो मृत्यु दर में कमी के आंकड़े को दर्शाता है।

हरियाणा में गंभीर मरीजों की दर में वृद्धि, लेकिन मृत्यु दर हुआ कम

हरियाणा में कोरोना वायरस के नोडल अधिकारी ध्रुव चौधरी ने कहा है की, वे सुनिश्चित करने के लिए आंकड़ों का विश्लेषण कर रहे हैं, मौत को रोकने के लिए पर्याप्त कदम उठाए जा रहे हैं।उन्होंने बताया कि जुलाई में मृतकों की संख्या में गिरावट आई है तथा हम मामलों की निगरानी कर रहे है।

जुलाई में आई मृतकों के आंकड़ों से पता चलता है कि मृत्यु दर में कमी हुई है, लेकिन गंभीर मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है। हरियाणा में 1 जून तक केवल 12 गंभीर रोग रोगी थे, जो जुलाई में बढ़कर 63 हो गया,तथा रविवार को मृतकों की मृतकों की संख्या बढ़कर 74 हो गई।

round multicolored abstract painting
Photo by Rahul Shah on Pexels.com

मुख्य चिकित्सा अधिकारी बिरेंद्र यादव ने कहा है कि , गांव के बजाय शहरी इलाकों में ज्यादा मामले आए हैं, तथा हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि, धीरे-धीरे मृत्यु दर में कमी हो और गंभीर मरीजों की संख्या में भी कमी आए।

Written by – Ankit Kunwar

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...