Pehchan Faridabad
Know Your City

पीएसएससी के वेबीनार में विशेषज्ञों ने वर्चुअल ट्रेनिंग और आईओटी पर दिया जोर 


नई दिल्ली। डिजिटल एजुकेशन की राह पर चलते हुए विद्युत क्षेत्रीय कौशल परिषद (पीएसएससी) अब ऑनलाइन प्रशिक्षण को लेकर विचार कर रहा है। इसके लिए विषय विशेषज्ञों के साथ वेबीनार का आयोजन किया गया।

जिसमें ऑनलाइन प्रशिक्षण की चुनौतियों पर चर्चा की गई। वेबीनार पैनल में पीएसएससी के सीईओ विनोद बिहारी, अदानी इलेक्‍ट्रीसिटी मुंबई लिमिटेड के हेड एचआर मनोज शर्मा और पावर ग्रिड कॉरपोरेशन के कर्मिक निदेशक वीके सिंह मौजूद है।

विशेषज्ञों के मुताबिक, एआर (ऑगमेंटेड रियल्‍टी) और वीआर (वर्चुअल रियल्‍टी) के जरिये ऑनलाइन ट्रेनिंग को आसान बनाया जा सकता है।
 
वेबीनार में पीएसएससी के सीईओ विनोद बिहारी ने कहा कि ऑनलाइन प्रशिक्षण में फिल्‍म की शक्‍ल में ऑडियो-विजुअल सबसे बेहतर विकल्‍प है। फिजिकल प्रैक्टिकल की जगह सिम्‍यूलेटर (आभासी तकनीक) आधारित प्रैक्टिकल कराया जाए, 

जिससे युवाओं को मशीन पर काम करने का अनुभव हासिल हो सके। वहीं, मनोज शर्मा ने विद्युत क्षेत्र में ऑपरेशन और मैनेजमेंट के लिए आईओटी (इंटरनेट ऑफ थिंग्‍स) और ड्रोन तकनीक पर जोर दिया।

उन्‍होंने कहा कि आने वाले वक्‍त में बिजली के प्रसारण एवं वितरण के सर्विलांस और मेंटेनेंस में ड्रोन बहुत कारगर होगा। इसके अलावा उन्‍होंने स्‍मार्ट होम्‍स, स्‍मार्ट ग्रिड से होने वाले रोजगार के अवसर के बारे में बताया। वीके सिंह ने भी सिम्‍यूलेटर और वीआर आधारित ऑनलाइन तकनीकी प्रशिक्षण पर जोर दिया।
 
इस कोरोना महामारी की वजह से प्रशिक्षण व्‍यवस्‍था प्रभावित हुई है। इसे देखते हुए पीएसएससी युवाओं को ऑनलाइन शिक्षण के जरिये उन्‍हें तकनीक प्रशिक्षण दिलाने का प्रयास कर रही है।

जिससे युवा प्रशिक्षण लेने के साथ ही सोशल डिस्‍टेंसिंग और कोरोना वायरस से बचाव को भी प्रभावी ढंग से पालन कर सके। वेबीनार में युवाओं के लिए जरूरी भविष्‍य की तकनीक के प्रशिक्षण पर भी चर्चा हुई। इस पूरे कार्यक्रम का संचालन अभिलाषा प्रोड्क्‍शन के बृजेश श्रीवास्‍तव ने किया।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More