Pehchan Faridabad
Know Your City

बीजेपी और उसके छात्र संगठन एबीवीपी का महिला विरोधी चेहरा हुआ उजागर : कृष्ण अत्री

फरीदाबाद। आज एनएसयूआई फरीदाबाद के कार्यकर्ताओं ने एबीवीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ० सुब्बैया शनमुगम का पुतला फूंका। एबीवीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने एक महिला के साथ उत्पीड़न किया है और अभद्रता की सारी हदें पार करते हुए महिला के गेट पर गिलास में पेशाब इकट्ठा करके फेंका है।

यह सारी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है। इस प्रदर्शन का नेतृत्व एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री ने किया। प्रदर्शनकारियों ने बीजेपी मुर्दाबाद, एबीवीपी मुर्दाबाद, डॉ० सुब्बैया शनमुगम मुर्दाबाद के नारे लगाये। 

एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री ने बताया कि बीते 5-6 दिन पहले एक शर्मनाक घटना देखने में आई है। एबीवीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सिर्फ पार्किंग के पैसे मांगने पर एक 52 साल की बुजुर्ग महिला के साथ उत्पीड़न करते हैं

और अभद्रता की सारी हदें पार करते हुए महिला के गेट के बाहर गिलास में पेशाब भरकर उस महिला के गेट पर फेंक देते हैं। यह सारी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई हैं। यह वीडियो एक प्रसिद्ध यूट्यूब चैनल Galata और कुछ फेसबुक पेजों में 5-6 दिनों से वायरल हो रही हैं।

जब पीड़ित महिला ने इसकी FIR दर्ज करानी चाही तो पुलिस द्वारा कोई FIR दर्ज नहीं की गई और इसके बजाय पीड़िता को अपनी शिकायत वापस लेने के लिए मजबूर किया जा रहा है। साथ ही बीजेपी, शिकायतकर्ता और मीडिया को इस मुद्दे को नहीं उठाने के लिए डरा रही है।

कृष्ण अत्री ने केंद्र की भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी एक ओर बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की बात कर रही है। वहीं उनके छात्र संगठन एबीवीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा एक महिला के साथ की गई अश्लील हरकत की वीडियो वायरल हो रही हैं।

बावजूद इसके इस पदाधिकारी के खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई भी नहीं हो रही है। बीजेपी हमेशा बलात्कारी जैसे कुलदीप सेंगर, चिन्मयानंद आदि का समर्थन करती हैं और एबीवीपी का इतिहास शिक्षकों को गाली देना, छात्रों की पिटाई और कई अपराधों को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि क्यों इसकी सही जांच नहीं हुई? मीडिया चुप क्यों है और क्यों भाजपा और एबीवीपी उसका समर्थन कर रहे हैं?

ऐसे में NSUI की मांग हैं कि एक महिला के साथ उत्पीड़न और अभद्रता करने के लिए एबीवीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ० सुब्बैया शनमुगम को हटाया जाए तथा साथ ही इसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए ताकि भविष्य में कोई इस तरह की शर्मनाक हरकत न करें।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More