Pehchan Faridabad
Know Your City

दादी की याद में लगाए सैकड़ों पौधे ,जाने पूरी कहानी पीयूष कुंद्रा की ज़ुबानी

मानव जीवन में पेड़ पौधों का होना अनिवार्य है बिना पेड़ पौधों के जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती । इसलिए समय समय से पेड़ पौधों की देखभाल करना एवं उनकी संख्या बढ़ाना अति आवश्यक है। इसी कड़ी में ट्री फॉर इच फाउंडेशन के निर्माता पीयूष कुंद्रा ने सैकड़ों पेड़ पौधे लगाने का दृढ़ निश्चय किया ।

आपको बता दें कि पीयूष कुंद्रा अपने इस फाउंडेशन के सदस्यों के साथ मिलकर सैकड़ों पौधे लगा चुके हैं और आज भी 1 अगस्त को उन्होंने 5500 लगाएं है। पीयूष 15 से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि उन्होंने यह मुझे अपनी प्रिय दादी के लिए चलाएं उन्होंने बताया कि उनकी दादी की बीमारी का कारण प्रदूषित वातावरण था जिसकी वजह से वह उनके बीच नहीं रहे लेकिन अब ने पियूष यह ठाना है की वे वातावरण को स्वच्छ रखने के लिए पूरी कोशिश करेंगे।

इसी के संदर्भ में उन्होंने पौधों को लगाने की मुहिम शुरू की है इस मुहिम में अभी फिलहाल उनके साथ चार लोग हैं जो उनका साथ निभा रहे हैं ।

ट्री फॉर ईच फाउंडेशन के निर्माता पीयूष कुंद्रा सभी कार्यों को संभालते (MANAGE) है ।इसके बाद राहुल शर्मा जो ऑपरेशन मैनेजर है , इसके अलावा पूजा चौहान जो इस मुहिम को सबसे अलग और असरदार बनाने के लिए इस फाउंडेशन में क्रिएटिव डायरेक्टर है और प्रिया चौधरी जो कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी संभालती हैं

राहुल जो ऑन फील्ड पौधे लगाने के कार्य को ऑपरेट कर रहे हैं उन्होंने बताया कि वह पेशे से तो एक सीए हैं लेकिन उन्हें इस कार्य में योगदान देकर मन को सुकून मिल रहा है और पर्यावरण को स्वच्छ बनाने की इस मुहिम में शामिल होने के लिए खुद को भाग्यशाली भी बताया ।

पीयूष कुंद्रा और की टीम ने मिलकर अब तक लगभग हजारों की संख्या में पौधे लगा दिए है , इसके अलावा उनकी कोशिश आगे ये रहेगी कि वे फरीदाबाद शहर के अलग अलग इलाकों को हरा भरा करे , जिसके लिए वे दिन रात मेहनत कर रहे है ।

पीयूष ने ये भी बताया कि सरकार की ओर से भी उन्हें काफी समर्थन दिया जा रहा है । इसके अलाव अंत में पीयूष ने हमारे चैनल के माध्यम से आम जनता से भी ये अपील की कि वो भी अपना योगदान तन मन और धन से इस मुहिम में से सकते है ।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More