HomeLife StyleHealthश्री राम मंदिर के भूमिपूजन की खुशी सबसे अलग तरीके से बनाई...

श्री राम मंदिर के भूमिपूजन की खुशी सबसे अलग तरीके से बनाई । डॉ. वीरेंद्र चौहान ने

Published on

पर्यावरण संकट का समाधान भारतीय संस्कृति में व्याप्त प्रकृति के सम्मान की भावना से ही संभव : डॉ. चौहान
श्रीराम जन्मभूमि के भूमिपूजन के पावन अवसर पर भाविप असंध ने किया पौधारोपण

हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष डॉक्टर वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि प्रकृति और पर्यावरण के संरक्षण के प्रति हमारे पूर्वज वैदिक काल से ही सजग थे।दुनिया के सामने मौजूद पर्यावरण संकट का सामना प्राचीन भारतीय सांस्कृतिक मूल्यों की तरफ़ लौट कर ही किया जा सकता है।

श्री राम मंदिर के भूमिपूजन की खुशी सबसे अलग तरीके से बनाई । डॉ. वीरेंद्र चौहान ने

वे आज यहाँ भारत विकास परिषद की असंध इकाई द्वारा आयोजित पौधारोपण कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि परिषद के सदस्यों को संबोधित कर रहे थे।कार्यक्रम की अध्यक्षता भारत विकास परिषद असंध के प्रधान सुरेश जलमाना और पौधारोपण अभियान के संयोजक डॉ. प्रवीण ने की।

डॉक्टर विरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि भारतीय समाज में वैदिक काल से ही पृथ्वी को माता मानने की परंपरा रही है और हमारे ऋषि मनीषियों ने वेदों में तो इन वृक्ष-वनस्पतियों को स्थान-स्थान पर नमस्कार किया गया है।

श्री राम मंदिर के भूमिपूजन की खुशी सबसे अलग तरीके से बनाई । डॉ. वीरेंद्र चौहान ने

नमो वृक्षेभ्यः हरिकेशेभ्यः, वनानां पतये नमः, ओषधीनां पतये नमः, वृक्षाणां पतये नमः आदि मंत्र इनके प्रमाण है। उन्होंने श्रीराम जन्मभूमि के भूमिपूजन के पावन अवसर पर पौधारोपण को एक अनूठी पहल बताया और कहा कि पौधारोपण को जन अभियान बनाने में भारत विकास परिषद सरीखे सामाजिक संगठन राज्य सरकार की बहुत मदद कर सकते हैं।

भारत विकास परिषद असंध इकाई के अध्यक्ष सुरेश गुप्ता जी ने पौधों को मानव जीवन का अभिना अंग बताया और कहा कि पौधों के महत्व को नकारने का ही परिणाम है कि प्रदूषण ने मानव जीवन को त्रस्त कर रखा है।

भारत विकास परिषद असंध इकाई के उपाध्यक्ष अधिवक्ता नरेन्द्र शर्मा ने कहा की अच्छे स्वास्थ्य व मजबूत रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए वृक्षों का आसपास होना सदैव लाभदायक है । पौधों से, वृक्षों से प्राप्त स्वच्छ वायु स्वस्थ्य शरीर के लिए अत्यंत आवश्यक है ।

श्री राम मंदिर के भूमिपूजन की खुशी सबसे अलग तरीके से बनाई । डॉ. वीरेंद्र चौहान ने

भारत विकास परिषद असंध इकाई के सचिव लाभ सिंह राणा ने कहा कि कुछ भी भूल जाओ लेकिन नए पौधे लगाना और पौंधों को संरक्षित करना कभी मत भूलो। पौधों को भूलना मानव जीवन को भूलना है ।

भारत विकास परिषद असंध इकाई के कार्यक्रम संयोजक डॉ. प्रवीण ने पौधारोपण को अत्यंत पुण्य का काम बताते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को पौधा जरूर लगाना चाहिए और वृक्ष बनने तक उसकी देख-रेख करनी चाहिए ।

इस अवसर पर वरिष्ठ भाजपा नेता डॉक्टर बूटी राम , एम. सी. राम अवतार, मास्टर जय प्रकाश सालवन, सुखदेव सिंह, हरी कृष्ण अरोड़ा आदि गणमान्य उपस्थित थे ।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...