HomeUncategorizedशहीद मदन लाल ढींगड़ा के नाम से जाना जाएगा करनाल का नया...

शहीद मदन लाल ढींगड़ा के नाम से जाना जाएगा करनाल का नया बस स्टैंड। हरियाणा सीएम मनोहर लाल

Published on

‘‘अपने लिए सब जीते हैं, संघर्ष करते हैं, परंतु नाम उन्हीं का अमर होता है, जो देश के लिए जीते हैं और देश के लिए मर-मिटते हैं। शहीद मदन लाल ढींगड़ा ऐसे ही महान देशभक्तों में से एक थे।’’ यह बात हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज करनाल में अमर शहीद मदन लाल ढींगड़ा की प्रतिमा का अनावरण करते हुए कही।

इस मौके पर उन्होंने भारत माता के इस महान सपूत को नमन किया और युवा शक्ति का आह्वान किया कि वे देश की एकता एवं अखण्डता की रक्षा के लिए बड़े से बड़े बलिदान देने तथा देश व प्रदेश के निर्माण में अधिक से अधिक योगदान देने का संकल्प लें।मुख्यमंत्री ने आज करनाल के नए बस अड्डे का नाम शहीद मदन लाल ढींगड़ा के नाम पर रखा और बस स्टैण्ड पर ही शहीद मदन लाल ढींगड़ा की प्रतिमा का अनावरण किया।

शहीद मदन लाल ढींगड़ा के नाम से जाना जाएगा करनाल का नया बस स्टैंड। हरियाणा सीएम मनोहर लाल

यह प्रतिमा यहां से गुजरने वाले हर व्यक्ति को भारत माँ के इस महान सपूत की याद दिलाती रहेगी और नई पीढिय़ों को ऐसे महान सपूत से देशभक्ति, त्याग और कुर्बानी की प्रेरणा मिलती रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीद मदन लाल ढींगड़ा देश की आजादी के लिए छोटी आयु में ही हंसते-हंसते फांसी के फंदे पर चढ़ गए। फांसी पर चढ़ते हुए शहीद ढींगड़ा ने कहा था कि भारत माता को गुलामी की जंजीरों से मुक्त करवाने के लिए चाहे मुझे कितनी बार भी फांसी पर चढऩा पड़े, तब भी मैं चढूंगा। वह फांसी पर चढ़ते समय मुस्कुराते रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा देश की एकता एवं अखंडता के लिए शहीद होने वाले बहादुर सैनिकों को सम्मान देने में सदैव आगे रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 1857 के स्वतंत्रता संग्राम में शहीद होने वाले सैनिकों की याद को चिरस्थाई रखने के लिए अम्बाला में 22 एकड़ भूमि पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर का एक शहीदी स्मारक बनाया जा रहा है, जो भावी पीढ़ी को देश के लिए त्याग, सेवा और कुर्बानी की प्रेरणा देता रहेगा। उन्होंने कहा कि भूतपूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों को दी जाने वाली पेंशन और आर्थिक सहायता में बढोतरी की गई है।

शहीद मदन लाल ढींगड़ा के नाम से जाना जाएगा करनाल का नया बस स्टैंड। हरियाणा सीएम मनोहर लाल

पिछले 5 सालो में 320 शहीदों के आश्रितों को विभिन्न विभागों में सरकारी नौकरी दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने न केवल स्वतंत्रता सेनानियों, भूतपूर्व सैनिकों एवं सेवारत सैनिकों, अर्ध सैनिक बलों को भी सुविधाएं दी हैं, बल्कि मातृभाषा हिन्दी के सत्याग्रहियों और एमरजेंसी के दौरान जेल जाने वाले प्रजातंत्र के प्रहरियों को 10 हजार रूपये मासिक पेंशन दी है। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने शहीद मदन लाल ढींगड़ा पार्क का भी औचक निरीक्षण किया। उन्होंने शहरवासियों से बातचीत करते हुए कहा कि इस पार्क का नाम शहीद मदनलाल ढींगड़ा के नाम से जाना जाएगा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आदेश दिए कि इस पार्क को शीघ्र विकसित किया जाए। इस मौके पर सांसद श्री संजय भाटिया, घरौंडा के विधायक श्री हरविन्द्र कल्याण, इंद्री के विधायक श्री रामकुमार कश्यप, नीलोखेड़ी के विधायक एवं वन विकास निगम के चेयरमैन श्री धर्मपाल गोंदर, मेयर रेनू बाला गुप्ता, उपायुक्त श्री निशांत कुमार यादव और पुलिस अधीक्षक श्री एसएस भोरिया उपस्थित रहे।

Latest articles

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

More like this

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...