HomeCrimeबहन ने कलाई पर बंधी राखी से पहचाना भाई का शव, अपहरण...

बहन ने कलाई पर बंधी राखी से पहचाना भाई का शव, अपहरण के बाद हुई हत्या

Published on

बदमाशों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि कानून का कोई डर नहींम उनके दिल में। फरीदाबाद हो या उसका पडोसी गुरुग्राम बदमाश बेखौफ होक घूम रहे हैं। यस बैंक के वरिष्ठ उपाध्यक्ष धीरज अहलावत की मौत से रहस्य का पर्दा उठाने के लिए गठित की गई विशेष जांच टीम मंगलवार को जांच शुरू नहीं कर सकी। दूसरी ओर धीरज की पत्नी सीमा ने पुलिस के ढीले रवैये पर सवाल खड़े किए हैं।

महामारी कोरोना के कारण भले ही भुकमरी फैली हो, लेकिन अपराधों की राह भी चुन ने वालों की संख्या भी बड़ी है। सीमा का कहना है कि उनके पति का किसी ने पहले अपहरण किया फिर हत्या कर शव गायब करने के लिए दिल्ली के हैदरपुर स्थित वाटर ट्रीटमेंट प्लांट को जाने वाली नहर में डाल दिया था।

बहन ने कलाई पर बंधी राखी से पहचाना भाई का शव, अपहरण के बाद हुई हत्या

जिस प्रकार कोरोना पर लगाम लगा पाना कठिन हो गया है, उसी प्रकार अपराधों को रोकना भी मुश्किल होता जा रहा है। सीमा को शक है कि धीरज की हत्या पैसे के लेन-देन को लेकर की गई। पुलिस अगर गंभीरता से जांच करे तो हत्या करने या कराने वालों के चेहरे सामने आ सकते हैं। धीरज बैंक की नौकरी के अलावा कई लोगों के साथ मिलकर एक फाइनेंस कंपनी भी चला रहे थे।

बहन ने कलाई पर बंधी राखी से पहचाना भाई का शव, अपहरण के बाद हुई हत्या

समय ऐसा आया हुआ है कि किसी से फ़ालतू मत बोलो। किसी के दिमाग में क्या है आप नहीं जान सकते। 37 वर्षीय धीरज पत्नी सीमा तथा पांच साल की बेटी व डेढ़ साल के बेटे के साथ रहते थे। कोरोना संक्रमण के चलते वह सप्ताह में एक दो बार बैंक जाते थे और बाकी दिनों में घर से ही काम कर रहे थे। पांच अगस्त की शाम वह अपने दोस्त गौरव के साथ पार्क में टहल रहे थे। शाम करीब पांच बजे गौरव व धीरज पार्क से एक साथ निकले। गौरव अपने घर की ओर चले गए जबकि धीरज अपने घर जा रहे थे।

बहन ने कलाई पर बंधी राखी से पहचाना भाई का शव, अपहरण के बाद हुई हत्या

छोटे – छोटे बच्चे और सीमा की मदद के लिए सरकार ने अभी तक कोई घोषणा नहीं की है। सीसीटीवी फुटेज में वह पार्क से निकल मुख्य सड़क तक जाते दिखाई दिए। बताते हैं कि उनके मोबाइल पर वाट्सएप कॉल आई उसके बाद वह घर की ओर न जाकर आगे बढ़ गए। उसके बाद से वह लापता हो गए। उनकी बहन द्वारा बंधी एक राखी से वरिष्ठ उपाध्यक्ष के परिवार को दिल्ली के एक अस्पताल में उनकी पहचान करने में मदद मिली थी।

Latest articles

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

More like this

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...